उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा बोर्ड (UPBEB) ने यूपीटीईटी 2021 परीक्षा का आयोजन रद्द कर दिया है. असल में पेपर लीक होने के कारण यह परीक्षा स्थगित की गई है. जिसके कारण लाखों अभ्यर्थियों को दिक्कत हुई है. वहीं अब ये परीक्षा दोबारा होगी. इसको लेकर यूपी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए घोषणा की है कि परीक्षा में बैठने वाले अभ्यर्थी सरकारी बसों में एडमिट कार्ड दिखाकर बिना पैसे दिए यात्रा कर सकेंगे.
जानकारी के अनुसार बता दें कि रविवार को रद्द की गई परीक्षा में 21 लाख से अधिक छात्र बैठने वाले थे. लेकिन पेपर लीक होने के बाद अब एक महीने बाद फिर से यह परीक्षा आयोजित की जाएगी. जिसके कारण लाखों अभ्यर्थियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा. लिहाजा राज्य सरकार ने उनकी दिक्कतों को समझते हुए ये ऐलान किया है. इसके तहत अभ्यर्थियों को अगली परीक्षा के लिए यूपी सरकार की बसों में किराया नहीं देना पड़ेगा और वह मुफ्त में अपने सेंटर जा सकेंगे और घर लौट सकेंगे.
वाट्सएप पर लीक हुआ था पेपर
पेपर लीक के मामले पर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार का कहना है कि यूपी एसटीएफ ने सॉल्वर गैंग से जुड़े कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है और उनसे पूछताछ की जा रही है. जानकारी के मुताबिक यह पेपर वाट्सएप पर लीक हुआ था और प्रशांत कुमार ने बताया कि गाजियाबाद, बुलंदशहर, मथुरा में वाट्सएप ग्रुप पर परीक्षा का पेपर लीक हुआ था, जिसके बाद परीक्षा रद्द कर दी गई है. एसटीएफ इसकी जांच कर रही है और माना जा रहा है कि अभी और लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है.
बसों में यात्रा के लिए दिखाने होंगे ये दस्तावेज
बता दें कि यूपीटीईटी परीक्षा के लिए जाने वाले छात्रों को अपना एडमिट कार्ड दिखाना होगा. इसके बाद उसे मुक्त में यात्रा करने की अनुमति मिलेगी. वहां परीक्षा केन्द्र में एडमिट कार्ड के साथ ही फोटो आईडी, शैक्षणिक योग्यता के मूल दस्तावेज या प्रशिक्षण केंद्र पर प्रशिक्षण संस्था के प्राचार्य द्वारा प्राप्त अंकपत्र का प्रमाण पत्र दिखाना होगा. छात्रों को परीक्षा केंद्र पर जाते समय ये सभी दस्तावेज रखने होंगे और उसके पास ये दस्तावेज नहीं हैं तो उसे परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.