केंद्रीय रक्षा मंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता राजनाथ सिंह ने गुरुवार को पार्टी के सबसे वरिष्ठ कार्यकर्ता श्री नारायण उर्फ भुलई भाई से मुलाकात की. भुलई भाई की उम्र 106 साल है और वो भारतीय जनता पार्टी के सबसे वरिष्ठ कार्यकरता हैं. भुलई भाई जनसंघ के टिकट पर विधायक भी रह चुके हैं. वो जनसंघ के चुनाव चिन्ह दीपक पर साल 1974 और 1977 में कुशीनगर जिले के नौरंगिया विधानसभा से दो बार विधायक चुने गए थे.
राजनाथ सिंह ने भुलई भाई से हुई इस मुलाकात की तस्वीर भी ट्विटर पर साझा की. उन्होंने तस्वीर पोस्ट करते हुए ट्वीट किया, “विजयादशमी की पूर्व संध्या पर उत्तर प्रदेश से जनसंघ के विधायक रहे और वर्तमान में देश के वरिष्ठतम पार्टी कार्यकर्ता, 106 वर्षीय श्री नारायण जी ‘भुलई भाई’ से भेंट करके सुखद अनुभूति हुई. उनकी सरलता और सादगी बेहद प्रेरणास्पद है. मैं मां दुर्गा से उनके उत्तम स्वास्थ्य की कामना करता हूं.”

ईमानदारी और सादगी के लिए हैं मशहूर
1980 में जब भारतीय जनता पार्टी बनाई गई तब भुलई भाई बीजेपी में आ गए थे. पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच भुलई भाई की सादगी और उनकी ईमादार छवि काफी चर्चित रही है. बाढ़ से घिरे गरीबों की स्थिति का भोजपुरी में वर्णन करने पर भी वो काफी प्रसिद्ध हुए. भुलई भाई सक्रिय राजनीति में उतरने से पहले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से भी जुडे़ हुए थे. इस दौरान वह देवरिया जिले के प्रचारक भी रहे.
भुलई भाई ने आगरा विश्वविद्यालय से एमए और गोरखपुर विश्वविद्यालय से बीएड करने के बाद 1962 में डिप्टी सब इंस्पेक्टर पद पर बेसिक शिक्षा विभाग में भी नौकरी की. 1966 से 1970 तक वो इस पद पर देवरिया में कार्यरत रहे. 1974 में विधायक चुने जाने से पहले उन्होंने नौकरी से इस्तीफा दे दिया.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.