रायबरेली। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने रायबरेली में सांसद सोनिया गांधी पर निशाना साधा।उन्होंने सांसद का बिना नाम लिए कहा कि 1971 से अब तक किसी ने कामगारों के लिए नहीं सोचा।ईरानी शनिवार को ईएसआइ के अस्पताल व शाखा कार्यालय के भवन के लोकार्पण के बाद एक सभा को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि आज जब रामेश्वर तेली रायबरेली पधारे तो उन्होंने कहा दीदी, हमने तो रायबरेली और अमेठी के बारे में सुना था, उसको देखकर यह लगा कि यहां पर गरीब 55 वर्षों से एक बड़े परिवार की असीम कृपा का पात्र होगा। रामेश्वर तेली के दिल में यह टीस थी कि 1971 से ईएसआईसी का काम किराए के भवन में चल रहा है।
स्मृति ने कहा कि कामगार के लिए एक मुफ्त का भवन बनाने के लिए किसी ने जहमत नहीं उठाई। स्मृति ईरानी ने कहा कि मैंने रामेश्वर तेली से कहा कि आप असम से दूसरे प्रतिनिधि हैं जो रायबरेली की बात कर रहे हैं। यूपीए के कार्यकाल में मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री होने का अपना गौरव बतलाते हैं वो भी असम के प्रतिनिधि थे। लेकिन आज पहली बार असम का प्रतिनिधि रायबरेली पधारा है। उल्लेखनीय है कि आज स्मृति ईरानी रायबरेली में कलेक्ट्रेट स्थित मीटिंग हॉल में दिशा की मीटिंग में शामिल हुई हैं। कलेक्ट्रेट सभागार में वह जिला विकास समन्वय एवं अनुश्रवण समिति (दिशा) की बैठक की अध्यक्षता कर रही हैं।साढ़े तीन साल बाद हो रही इस बैठक को काफ़ी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.