उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा राज्य में सक्रिय हो गई. प्रियंका लगातार राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साध रही हैं. अब उन्होंने परोक्ष तौर पर समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधा. प्रियंका ने कहा कि वो सिर्फ ट्विट करते हैं और बाहर नहीं निकलते हैं. प्रियंका गांधी का ये बयान अखिलेश यादव से दो दिन पहले दिल्ली जाते वक्त फ्लाइट में एक संक्षिप्त मुलाकात के बाद आया है.
असल में राज्य में प्रियंका गांधी आक्रामक तौर पर कांग्रेस का प्रचार कर रही हैं और राज्य में होने वाली छोटी घटनाओं को बड़ा बनाकर मीडिया की सुर्खियां बन रही हैं. जबकि राज्य में कांग्रेस के पास मजबूत नेटवर्क नहीं है.  एक एक समाचार पत्र को दिए गए इंटरव्यू में प्रियंका गांधी ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर परोक्ष तौर हमला किया और कहा कि कुछ लोग बाहर नहीं निकलते हैं और ट्विटर पर ही सक्रिय रहते हैं. जबकि कांग्रेस 2017 का विधानसभा का चुनाव समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में लड़ चुकी है. प्रियंका के बयान से साफ है कि आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और एसपी के बीच गठबंधन होने की कोई उम्मीद नहीं हैं.
बागियों पर बोली प्रियंका
कांग्रेस महासचिव से रीता बहुगुणा जोशी, प्रियंका चतुर्वेदी और अन्नू टंडन पर पूछे गए सवाल पर प्रियंका गांधी ने कहा कि इन नेताओं को कांग्रेस ने आगे बढ़ाया है और महिला सशक्तिकरण को मजबूत किया है. कांग्रेस ने इन महिला नेताओं को टिकट दिया है. वहीं रीता बहुगुणा जोशी को कई बार टिकट दिया और दो बार प्रदेश अध्यक्ष भी रही हैं. लेकिन पार्टी छोड़ने वाले खिलाफ बयान देंगे ही.
प्रियंका ने खेला महिला कार्ड
वहीं यूपी चुनाव से पहले कांग्रेस ने महिला कार्ड खेला है. दो दिन पहले ही प्रियंका गांधी ने ऐलान किया कि राज्य में कांग्रेस 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देंगे. वहीं प्रियंका ने राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद महिलाओं को मुफ्त में स्कूटी और स्मार्टफोन देने का ऐलान किया. वहीं कांग्रेस महासचिव का मानना है कि महिलाओं के मुद्दों को उठाने से राज्य में कांग्रेस को फायदा मिलेगा.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.