प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तीनों कृषि कानून वापस लेने के एलान पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का साफ तौर पर कहना है कि चुनाव के चलते ये फैसला लिया गया है. लेकिन अब सबको बीजेपी की हकीकत पता है, इसका कोई फायदा नहीं होने वाला है. अखिलेश यादव ने कहा कि जबसे 2000 का नोट आया है भ्रष्टाचार और बढ़ गया है.
अखिलेश यादव ने कहा कि आज जो फैसला लिया है, वह किसान के हित में है. अभी तक बकाया भुगतान नहीं हो पाया है. किसानों के हित के लिए एमएसपी का कानून बनना चाहिए. बीजेपी को जनता हटाना चाहती है. वोट के लिए यह किया है. हो सकता है चुनाव के बाद नए तरीके से यह नया कानून लाएं. उन्होंने कहा कि इस कानून का विरोध हर किसान कर रहा है. जब किसान इसके पक्ष में नहीं था तो इसे लागू क्यों किया. हम पूछना चाहते हैं एमएसपी के लिए कानून कब लाएंगे.
 अखिलेश यादव ने कही ये बड़ी बात
अखिलेश यादव ने कहा, ‘आज बाजार में पैसा ज्यादा सर्कुलेट हो रहा है. लेकिन लोगों के पास पैसा नहीं है खर्च करने के लिए. तीन कृषि कानून वापस ले लेकिन मंत्रिमंडल से मंत्री को कब हटाएंगे जिसने किसानों को कुचल दिया. केवल वोट के लिए ऐसा किया है. 2000 का नोट जब से आया है भ्रष्टाचार और बढ़ गया है. जनता और ज्यादा जागरूक है. जनता को सब मालूम है विजय रथ यात्रा में जो भीड़ उमड़ी उससे दिल्ली में बैठे लोग भी हिल गए.’

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.