पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में जीत के बाद टीएमसी प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नजरें यूपी चुनाव पर हैं. ममता बनर्जी छठ पूजा के बाद पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का दौरा करेंगी. यूपी के दो बड़े कांग्रेसी नेता के टीएमसी में शामिल होने के बाद ममता बनर्जी ने वाराणसी दौरे का एलान किया है. एक बयान के मुताबिक, ममता बनर्जी ने कहा, “टीएमसी में लोगों का विश्वास बढ़ रहा है. दोनों नेताओं का शामिल होना इस बात की गवाही देता है कि हम अब राष्ट्रीय पार्टी है जो बीजेपी को असली चुनौती दे सकती है.”
ममता ने आगे कहा कि हमें बीजेपी से लड़ने के लिए आगे बढ़ना होगा क्योंकि कांग्रेस पिछले 15 वर्षों में उत्तर प्रदेश में बीजेपी खिलाफ कोई लड़ाई लड़ने में विफल रही है. ममता ने बताया कि टीएमसी में शामिल हुए यूपी के दो नेताओं ने उन्हें वाराणसी आने के लिए आमंत्रित किया है. वह छठ पूजा के बाद वहां जाएंगी.
ममता ने कहा, “हम राष्ट्रीय पार्टी है. हम कहीं भी जा सकते हैं. कोई लक्ष्मण रेखा नहीं है जो हमें रोक सकती है. लक्ष्मण रेखा दंगा भड़काने वालों के लिए होनी चाहिए, लेकिन बीजेपी शासित गोवा, त्रिपुरा, यूपी में इसके उलट है.” ममता ने कहा कि बीजेपी सरकार हाथरस और लखीमपुर में दलितों, महिलाओं, किसानों पर अत्याचार करती है.
टीएमसी में शामिल हुए कांग्रेस के दो नेता
सिलीगुड़ी में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मौजूदगी में कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता राजेशपति त्रिपाठी और ललितेशपति त्रिपाठी टीएमसी में शामिल हो गए. इस दौरान दोनों नेताओं ने कहा कि वे टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश और केंद्र में बीजेपी को सत्ता से बाहर करने के लिए लड़ाई जारी रखेंगे. राजेशपति त्रिपाठी पूर्व विधान पार्षद हैं जबकि ललितेशपति त्रिपाठी उत्तर प्रदेश कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष हैं और विधायक रह चुके हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.