लखीमपुर खीरी प्रकरण के बाद कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ के जसपुर में शुक्रवार को घटी घटना पर उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि अब देखना होगा कि क्या छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री हवाईअड्डे पर धरना देते हैं या नहीं और भाई-बहन (राहुल एवं प्रियंका) अब जशपुर की घटना पर क्या करते हैं. उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में शुक्रवार को एक तेज रफ्तार कार की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई और 17 अन्य घायल हो गए. ये सभी दुर्गा प्रतिमा विसर्जन करने जा रहे थे. पुलिस ने कार सवार युवकों को गिरफ्तार कर लिया है.
‘देखना होगा मुंगेरीलाल का रथ छत्तीसगढ़ जाता है या नहीं’
प्रयागराज में जीटी रोड से एयरपोर्ट तक के लिए चार लेन के फ्लाईओवर के शिलान्यास कार्यक्रम में आए सिंह ने कहा कि बहुत से लोग राजनीति करने के लिए लखीमपुर खीरी पहुंचे थे. उन्होंने कहा, “मैं देखना चाहता हूं कि मुंगेरी लाल के हसीन सपने लेकर जो एक रथ निकला है, वह रथ छत्तीसगढ़ जाता है या नहीं.” कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जसपुर की घटना पर कहा कि यह एक दुखद घटना है तथा राहुल गांधी, प्रियंका गांधी समेत कई नेता लखीमपुर आकर मगरमच्छी आंसू बहा रहे थे, उन्हें छत्तीगढ़ भी जाना चाहिए. कालिंदीपुरम में चार लेने के फ्लाईओवर और आरओबी का शिलान्यास करने के बाद मौर्य ने बताया कि इन दोनों परियोजनाओं पर 282 करोड़ रुपये से अधिक की लागत आएगी और इन पुलों के बनने से शहर से हवाईअड्डा जाने वाले लोगों को यातायात जाम की समस्या से निजात मिलेगी और शहर पश्चिमी की जनता को बहुत राहत मिलेगी.
मायावती ने भी साधा निशाना
बसपा सुप्रीमो मायावती ने दुर्ग में हुई घटना को लेकर निशाना साधा. उन्होंने ट्वीट किया, “छत्तीसगढ़ में दुर्गा विसर्जन के दौरान भीड़ को कार से कुचलने से हुई एक व्यक्ति की मौत व अनेकों के घायल होने की घटना अति-दुखद, जो लखीमपुर खीरी की घटना की याद ताजा करती है. कांग्रेस सरकार पीड़ित परिवारों को आर्थिक मदद व नौकरी दे तथा दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे.”
(इनपुट-भाषा)

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.