राशनकार्ड में फर्जीवाड़े को रोकने के लिए सरकार राशनकार्ड आवेदन की प्रक्रिया को पूरी तरह सुरक्षित बना रही है। अब सीएससी (जन सेवा केन्द्र) से राशनकार्ड आवेदन के समय ही आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा। इससे ओटीपी सत्यापन से वास्तविक और फर्जी आवेदक की पहचान हो जाएगी। यहीं नहीं आवेदक का मोबाइल नम्बर और आधार का प्रमाणीकरण भी हो जाएगा। यह नई व्यवस्था जल्द ही लागू होगी।
राशनकार्ड में फर्जी आधार लगाने और डुप्लीकेसी के तमाम मामले आते रहे हैं। इस फर्जीवाडे को रोकने और राशनकार्ड को सुरक्षित बनाने के लिए सरकार ने आवेदन के समय ही आवेदक के मोबाइल नम्बर और आधार को प्रमाणित करने के लिए ओटीपी की व्यवस्था बनाई है। ओटीपी आवेदक के आधार में लिंक नम्बर पर आएगा। इससे लोग किसी अन्य के आधार का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे।
आवेदन की पीडीएफ होगी अपलोड 
सीएससी संचालकों को अब राशनकार्ड आवेदक के सभी अभिलेखों व आवेदनपत्र की पीडीएफ फाइल बनाकर वेबसाइट पर आपलोड करना होगा। सीएससी संचालक को आवेदक के सभी कागजों और आवेदन पत्र पर हस्ताक्षर भी लेने होंगे। बहुत जल्द ही लोग घर बैठे खाद्य विभाग की वेबसाइट पर राशनकार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। डीएसओ सुनील कुमार सिंह बताते हैं कि इसके लिए विभागीय वेबसाइट पर जल्द ही अलग से एक लिंक उपलब्ध कराया जाएगा।
आधार में वर्तमान पता नहीं तो लगेगा निवास प्रमाणपत्र 
नई व्यवस्था में राशनकार्ड के आवेदक के आधार में वर्तमान पता दर्ज है तो आवेदक को निवास प्रमाणपत्र लगाने की कोई जरूरत नहीं होगी। अगर आधार में वर्तमान पता(जहां से अवेदन कर रहा है) दर्ज नहीं है ऐसे में निवास प्रमाणपत्र लगाना होगा।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.