लखनऊ। सोमवार को लखनऊ में 50,000 रुपये का नकद इनामी बांग्लादेशी अपराधी पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया। लखनऊ की संयुक्त पुलिस अपराध आयुक्त नीलाबजा चौधरी ने कहा, “हमजा पिछले दो वर्षों में लखनऊ और वाराणसी में हुई तीन डकैतियों का मास्टरमाइंड था। हमजा का दिल्ली सहित चार राज्यों में डकैती करने का रिकॉर्ड भी रहा है।”
चौधरी ने कहा कि हमजा बांग्लादेश के खुलना जिले का रहने वाला था और अपने गिरोह के सदस्यों के साथ 10,000 रुपये की रिश्वत देकर भारत आया था। हमजा का नाम उसी गिरोह के तीन सदस्यों से पूछताछ के दौरान सामने आया, जिन्हें पिछले हफ्ते गिरफ्तार किया गया था।
पुलिस अधिकारी ने बताया कि तड़के करीब 2.45 बजे एक पुलिस गश्ती दल ने गोमती नगर के लोहिया पार्क के पास कुछ लोगों को बंदूक चलाते देखा और उन्हें रुकने को कहा। वे भागने लगे, जिसके बाद पुलिसकर्मियों ने उनका पीछा किया, लेकिन हमलावरों ने भागने की कोशिश करते हुए पुलिस टीम पर भी गोलियां चला दीं। पुलिस ने भी फायरिंग की और एक बदमाश घायल हो गया और जमीन पर गिर गया जबकि अन्य भाग गए। इसके बाद में घायल व्यक्ति को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया। उसकी पहचान हमजा के रूप में हुई है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.