उत्तर प्रदेश में सिविल सर्विसेज और सरकारी नौकरी की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के लिए राज्य सरकार ने अभयोदय कोचिंग सेंटर खोले हैं और कई जिलों में इन केन्द्रों पर कोचिंग भी शुरू हो चुकी है. वहीं वाराणसी में आईएएस और आईपीएस की मुफ्त शिक्षा के लिए ऑनलाइन तारीख भी घोषित कर दी गई है. वाराणसी डीएम ने बताया कि मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आगामी प्रतियोगिता के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की अंतिम तिथि 20 अक्टूबर है औरइच्छुक अभ्यर्थी इस तिथि तक ऑनलाइन पंजीकरण करा सकते हैं.
फिलहाल सफल अभ्यर्थियों के लिए कोचिंग सत्र के संचालन की संभावित तिथि 15 नवंबर रखी गई है. जबकि जेईई एग्जाम 21 अक्टूबर को, नीट एग्जाम 22,एनडीए/सीडीएस एग्जाम 25 और सिविल सर्विसेज/स्टेट सिविल सर्विसेज एग्जाम 26 अक्टूबर को आयोजित किए जाएंगे. सभी परीक्षाएं दोपहर दो बजे से तीन बजे तक होंगी और इसकी जानकारी वेबसाइट पर दी जाएगी और रिजल्ट भी वेबसाइट पर जारी किया जाएगा। जिसके लिए तिथि 29 अक्टूबर रखी गई है. डीएम ने जानकारी दी है कि कोचिंग में सिविल सर्विसेज एग्जाम 2022,नीट/जेईई और एनडीए/सीडीएस (प्राइवेट) एग्जाम 2022 की तैयारी के लिए फ्री कोचिंग की सुविधा है.
राज्य में खोले जा रहा हैं अहिल्या कोचिंग सेंटर
दरअसल राज्य में विभिन्न अभ्यर्थियों के लिए अक्टूबर की शुरुआत में योगी सरकार ने यूपी के हर जिले में अहिल्या कोचिंग सेंटर खोलने की घोषणा की थी. ताकि प्रदेश के युवाओं के लिए आईएएस, आईपीएस और इंजीनियर बनने की राह आसान हो सके. राज्य सरकार अब छोटे जिलों में भी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वालों के लिए मुख्यमंत्री अहिल्या योजना को लागू करने की तैयारी में है.
सीएम योगी ने दिए समाज कल्याण विभाग को आदेश
राज्य के सीएम योगी आदित्यनाथ ने समाज कल्याण विभाग को हर जिले में अहिल्या कोचिंग शुरू करने का प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश दिया है. सरकार की योजना छोटे जिलों के प्रतिभावान युवाओं को अपने नजदीक प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए बेहतरीन सुविधाएं देने की है. वर्तमान में 18 मंडल मुख्यालयों पर मुख्यमंत्री आवास योजना संचालित की जा रही है वहीं अब राज्य सरकार सभी 75 जिलों में में इन कोचिंग सेंटर को स्थापित करने की योजना बना रही है.
एक लाख परिक्षार्थियों को दिया जा रहा है ऑनलाइन स्टडी मटेरियल
जानकारी के मुताबिक अहिल्या कोचिंग के माध्यम से 5,000 से अधिक छात्रों को ऑफलाइन माध्यम से नीट, सीडीएस, जेईई, एनडीए और सिविल सेवा परीक्षाओं के लिए और 10 हजार से अधिक छात्रों को ऑनलाइन माध्यम से तैयार किया जा रहा है. जानकारी के मुताबिक राज्य में 1 लाख से अधिक छात्रों को ऑनलाइन स्टडी मटेरियल उपलब्ध कराई जा रही है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.