उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अपराधी अब खुलेआम लोगों को धमकी दे रहे हैं. ताजा मामला ठाकुरगंज थाने का है, जहां डॉक्टर को बुलाकर एक गैंगस्टर कई दिनों से पत्नी को तलाक देने का दबाव बना रहा है. गैंगस्टर ने डॉक्टर से फोन पर कहा कि डॉक्टर सर, मुझे आपकी पत्नी बहुत पसंद है, आप उन्हें तलाक दे दो. वहीं जब डॉक्टर ने इसका विरोध किया तो उसे धमकी दी गई और समझौते के नाम पर जबरन वसूली भी की गई. लेकिन दिलचस्प ये है कि जिन दो एकाउंट में पैसा ट्रांसफर किया गया है, उसमें से एक की हत्या कर दी गई है और गैंगस्टर उसकी हत्या में जेल में बंद है.
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक जिन खातों में जबरन वसूली का पैसा ट्रांसफर कराया गया है, उसमें से एक श्रवण साहू के नाम पर और दूसरा अकील अंसारी के नाम पर है. अकील गैंगस्टर है और जेल में बंद. पीड़ित डॉक्टर ने थाने में शिकायत दी है और पुलिस से मदद मांगी है। इसके बाद साइबर क्राइम सेल जांच में जुट गई है. पुलिस ने रविवार रात गैंगस्टर के आरोपी गुर्गे को हिरासत में ले लिया और उससे पूछताछ कर रही है.
डॉक्टर को भेजने लगा अश्लील मैसेज
जानकारी के मुताबिक पहले गैंगस्टर ने डॉक्टर को धमकी दी और फिर उसके बाद अश्लील मैसेज भेजने लगा. पीड़ित डॉक्टर के मुताबिक, फोन करने वाले की हरकतों से वहपरेशान हो गया था और उसने उससे समझौता किया और इसके बाद उसे पैसे भी भेजे. लेकिन कुछ समय बाद वह फिर से अश्लील मैसेज और वीडियो भेजकर अभद्रता करने लगा. इसके बाद डॉक्टर ने पुलिस से शिकायत की.
दो खातों में मंगाए पैसे
पीड़ित डॉक्टर का कहना है कि समझौता होने के बाद दो बैंक खातों में पैसे की मांग कीगई और इसमें से एक बैंक एकाउंट श्रवण साहू के नाम पर और दूसरा अकील के नाम पर है. इसके बाद डॉक्टर ने एक खाते में पांच हजार रुपये और दूसरे में 20 हजार रुपये ट्रांसफर किए. पुलिस ने जब खातों की जांच की तो पता चला कि एक खाता श्रवण साहू के नाम पर और दूसरा अकील के नाम पर है.
श्रवण साहू कर दी कुछ साल पहले हत्या और अकील है जेल में
असल में ये मामला चर्चा है कि क्यों व्यवसायी श्रवण साहू की कुछ साल पहले हत्या कर दी गई थी और हत्या के आरोप में अकील हरदोई जेल में बंद है. फिलहाल पुलिस मामले में जांच कर रही है कि ये दोनों खाते व्यवसायी श्रवण साहू और उसके हत्यारे अकील के हैं या किसी और के.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.