• महज तीन दिन में सैकड़ों बच्चों का डीबीटी के तहत डेटा फीड करके शिक्षकों ने बनाया रिकॉर्ड।
रायबरेली। उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से प्राथमिक स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों के खातों में सीधे ही धनराशि स्थानांतरित करने के लिए शुरू की गई डीबीटी प्रक्रिया का काम बहुत ही तेजी के साथ में चल रहा है। राही विकासखण्ड में चार स्कूलों के अध्यापकों ने महज तीन दिन के अंदर ही टीम भावना के साथ में काम करते हुए डेटा फीड कर दिया है।
महज तीन दिन के अंदर ही काम करने पर राही विकासखण्ड के खण्ड शिक्षाधिकारी बृजलाल वर्मा की तरफ से शिक्षकों को माला पहनाकर सम्मानित किया गया। इन शिक्षकों ने शासन के इस काम को पूरी तत्परता के साथ में करते हुए योजना के लॉन्च होते ही महज तीन दिन में डीबीटी के तहत शत प्रतिशत अपने स्कूल के छात्रों का डेटा बेसिक शिक्षा के पोर्टल पर अपलोड कर दिया है। बता दें, शासन की तरफ से विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्रों के अभिभावकों के खाते में सीधे ही जूता, मोजा, बैग, स्वेटर और ड्रेस का पैसा भेजा जाएगा।
शासन की महत्वपूर्ण योजना डीबीटी माड्यूल पर टीम भावना के साथ में काम करने पर सम्मानित होने वाले शिक्षकों में प्राथमिक विद्यालय आंटीनौंगवा (कुल नामांकित बच्चे 241) प्रावि राजापुर (कुल नामांकित बच्चे 126), प्रावि पूरे रैकवारन(कुल नामंकित बच्चे 47) व प्राथमिक विद्यालय उमरा (कुल नामांकित बच्चे 136) द्वारा शत्-प्रतिशत् डाटा फीड कराया गया है। शिक्षकों की तरफ से बेहतर काम करने पर खण्ड शिक्षाधिकारी बृजलाल वर्मा ने इन विद्यालयों के समस्त शिक्षकों व शिक्षा मित्रों को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं।
इसके अलावा उन्होंने प्राथमिक विद्यालय आंटी नौंगवां के रामेंद्र प्रताप यादव (प्र0अ), अनुपमा सिंह(स0अ0), मौर्या नीलम सत्यनारायण(स0अ0), अंकित कुमारी(स0अ0), इन्दुकांत(स0अ0), गीता यादव (शिक्षामित्र) व विनोद कुमारी (शि0मि0) प्राथमिक विद्यालय राजापुर के शिवबहादुर (प्र0अ0), अजय सिंह(स0अ0), वन्दना(स0अ0), माया देवी(शि0मि0), प्राथमिक विद्यालय पूरे रैकवारन के सुरेन्द्र सिंह (प्र0अ0), नजमा बानो (स0अ0), कोकिला सिंह (शि0मि0) व प्राथमिक विद्यालय उमरा के राजेश कुमार यादव(प्र0अ0), प्रसून सिंह (स0अ0), रेखा(स0अ0), दिव्या गुप्ता(स0अ0) व वंदना(स0अ0) को खण्ड शिक्षा अधिकारी, राही ने फूलमाला पहनाकर सम्मानित किया गया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.