बस्तीः बस्ती में जिला पंचायत अध्यक्ष की जंग को लेकर बीजेपी के संजय चौधरी और सपा के वीरेंद्र चौधरी के बीच कांटे की टक्कर है. बात करें बीजेपी से चुनावी मैदान में संजय चौधरी की तो वह बीजेपी के पुराने कार्यकर्ता हैं. वह लगभग 30 सालों से पार्टी में हैं.
वह अबतक बीजेपी कोटे से 3 बार जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन रहे हैं. इसके अलावा वह बीजेपी जिला उपाध्यक्ष, प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य भी रहे हैं. उन्होंने गोरखपुर क्षेत्रीय पिछड़ा वर्ग मोर्चा संगठन में काम किया है. इसके अलावा, दो बार रामनगर विधानसभा से बीजेपी उम्मीदवार भी रहे  लेकिन दोनों बार हार मिली.
वहीं, बस्ती में बीजेपी को जिताने का जिम्मा प्रभारी मंत्री राजेंद्र प्रताप उर्फ मोती सिंह को दिया गया है. उधर बीजेपी को टक्कर देने वाले सपा के वीरेंद्र चौधरी की बात करें तो वह पेशे से ईंट व्यवसायी हैं. वह पहले भी जिला पंचायत सदस्य रहे हैं. साल 2000 में वह सदर ब्लॉक प्रमुख भी रहे हैं. सपा ने उन्हें इसबार उम्मीदवार बनाया है.
बस्ती के सियासी समीकरण पर डालें एक नजर 
जिला- बस्ती
कुल सीट- 43
जीत के लिए- 22
भाजपा- 9
सपा- 8
बसपा- 6
अन्य- 4
निर्दलीय-16
गौरतलब है बस्ती में छठी बार जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव हो रहा है. दिलचस्प ये है कि यहां अबतक सिर्फ पिछली बार निर्विरोध निर्वाचन हुआ है. इस बार पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी निर्दलीयों के भरोसे ही है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.