उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में लड़ाई दिलचस्प होती जा रही है. जहां बीजेपी ने राजधानी लखनऊ की सरोजनी नगर विधानसभा सीट पर चल रहे विवाद का निपटारा कर लिया गया है. वहीं, पार्टी से टिकट के लिए पति दयाशंकर सिंह और पूर्व मंत्री पत्नी स्वाति सिंह के सामने आने के बाद बीजेपी ने किसी तीसरे व्यक्ति को टिकट देने का फैसला किया. इस दौरान बीजेपी ने लखनऊ की सरोजनी नगर सीट से राजेश्वर सिंह को अपना उम्मीदवार बना दिया है.
दरअसल, आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक ED के पूर्व डायरेक्टर राजेश्वर सिंह को टिकट मिलने पर पति दयाशंकर सिंह ने बताया कि वे बहुत खुश नजर आ रहे है. उन्होंने कहा कि वे बीजेपी के उम्मीदवार राजेश्वर सिंह को भारी मतों से जीत दर्ज कराने के लिए पूरी ताकत लगाएंगे. इस दौरान दयाशंकर सिंह ने कहा कि राजेश्वर सिंह भी बलिया से हैं और वह भी वहीं से आते हैं. इसलिए दोनों के बीच पारिवारिक संबंध भी हैं. वहीं, दयाशंकर ने पति-पत्नि की आपसी कलह में हुई लड़ाई की वजह से टिकट कटने की बात से साफ इनकार किया. उन्होंने कहा कि ऐसी बात नहीं है कि पति-पत्नी के झगड़े के कारण राजेश्वर सिंहको उम्मीदवार बनाया गया है.
टिकट को लेकर नही हैं कोई भी तकलीफ
वहीं, दयाशंकर सिंह ने बताया कि बीजेपी पार्टी जिसे समझती है कि वह चुनाव में जीत दिला सकता है, उसे ही पार्टी की ओर से टिकट दिया जाता है. हालांकि राजेश्वर सिंह को टिकट देने का फैसला पार्टी ने लिया है. इस दौरान पार्टी ने हमारे लिए भी कुछ अच्छा ही सोचा होगा. टिकट कटने के सवाल पर दयाशंकर ने कहा कि कई परिवारों के टिकट कटे हैं. इसमें कोई तकलीफ वाली बात नहीं है.
मंत्री स्वाति सिंह ने पति दयाशंकर लगाए थे मारपीट के आरोप
बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री स्वाति सिंह का कथित ऑडियो वायरल हुआ था. जिसमें वो एक शख्स से अपनी पीड़ा बता रही है. इस बातचीत के दौरान मंत्री स्वाती सिंह ने गंभीर आरोप लगाए थे. जिसमें उन्होंने अपने पति दयाशंकर पर मारपीट और प्रताड़ना के गंभीर आरोप लगाए थे. ऑडियो में अनजान शख्स से बात करते हुए स्वाति सिंह कह रही थीं कि मेरी थोड़ी स्थिति अलग है, यदि उसे (दयाशंकर) पता चलेगा तो वो आदमी मुझको भी मारना-पीटना शुरू कर देगा. साथ ही चीजें बहुत खराब हो जाएंगी लेकिन मैं ये कभी नहीं चाहूंगी कि किसी निर्दोष व्यक्ति के साथ इस तरह की बात हो.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.