उत्तर प्रदेश के अलीगढ़  में एक पति अपनी पत्नी से सिर्फ इसलिए तलाक लेना चाहता है क्योकि उसकी पत्नी नहाती नहीं है. पढ़ने में ये बात जरूर अजीबोगरीब लग रही होगी, लेकिन ये सच है. शहर के वीमन प्रोटेक्‍शन सेल में ये मामला पहुंचा है. अब काउंसलिंग कर दोनों पति-पत्नी को समझाया जा रहा है. ताकि दोनों अपने मतभेद भूलकर साथ रहने को राजी हो जाएं. दरअसल पति ने काउंसलिंग के दौरान ही अपनी पत्‍नी से तलाक दिलाने की गुहार लगाते हुए उसके न नहाने को सबसे प्रमुख वजह के तौर पर सामने रखा है.
पति ने काउंसलर से कहा,’मैडम मेरी पत्‍नी नहाती नहीं है, मैं इसके साथ नहीं रह सकता. प्‍लीज मुझे तलाक दिला दीजिए.’ इस गुहार को सुनने के बाद काउंसलर भी हैरान हो गई थी. मामला अलीगढ़ के चंडौस इलाके का है. बताया जा रहा है कि दो साल पहले इस दंपत्ति की शाादी हुई थी. लड़का चंडौस का रहने वाला है जबकि लड़की क्‍वार्सी की रहने वाली है.
पति-पत्नी हैं एक दूसरे की आदतों से परेशान
दंपत्ति के बीच शादी के बाद शुरू-शुरू में सब ठीक चला लेकिन कुछ समय बाद ही फिर दंप‍ती में मनमुटाव और झगड़े होने शुरू हो गए. झगड़े इतने ज्यादा बढ़ गए कि दोनों एक-दूसरे की आदतों और रहन-सहन को लेकर भी कमेंट करने लगे थे. इस बीच नौ महीने पहले दोनों का एक बेटा भी हुआ है. सभी को उम्मीद थी कि बच्चे के पैदा होने के बाद दोनों के बीच लड़ाई खत्म हो जाएगी, लेकिन दोनों में झगड़ों का सिलसिला नहीं रूका. जब दोंनों की लड़ाई हद से अधिक बढ़ गई तो मामला पुलिस और वूमेन प्रोटेक्‍शन सेल तक जा पहुंचा.
पत्नी ने कहा उस पर लगाए जा रहे हैं आरोप
यहां काउंसलर ने पति और पत्‍नी दोनों को समझाने की कोशिश की. इसी बीच पति, पत्‍नी के न नहाने की बात करते हुए उससे तलाक दिलाने की गुहार लगाने लगा. पति ने कहा कि वो अपनी पत्‍नी से इसलिए परेशान है कि वो रोज नहाती नहीं है. उसके शरीर से बदबू आती है. वह अब अपनी पत्‍नी के साथ नहीं रहना चाहता है. उधर, पत्‍नी की ओर से आरोप लगाया गया है कि बेबुनियाद बातों के आधार पर उसे परेशान किया जा रहा है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.