लखनऊ –  नए साल पर रेल के बढ़े किराए के बोझ से लोग अभी उबर भी नहीं पाए थे कि उत्तर प्रदेश रोडवेज ने भी गुरुवार को अपना किराया बढ़ाने का ऐलान कर दिया. राज्य परिवहन प्राधिकरण की मंजूरी के बाद रोडवेज प्रबंधन ने बसों के किराए में 10 पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी कर दी है. इससे पहले बीते हफ्ते रोडवेज के निदेशक मंडल ने कर्मचारियों व अधिकारियों के वेतन और भत्तों के साथ ही डीजल की बढ़ी दरों की भरपाई के लिए किराए में बढ़ोतरी का निर्णय लिया था.

एमडी राज शेखर के मुताबिक बढ़ा किराया गुरु आधी रात से ही लागू कर दिया गया है. रोडवेज के निदेशक मंडल ने बीते हफ्ते बोर्ड बैठक में किराया बढ़ाने का निर्णय लेते हुए प्रस्ताव राज्य परिवह प्राधिकरण के पास मंजूरी के लिए भेजा था. STA की बैठक में गुरुवार को रोडवेज के प्रपोजल पर मुहर लगा दी गई है. अब यात्रियों को बढ़ा हुआ किराया देना पड़ेगा.

रोडवेज की साधारण, वॉल्वो, स्कैनिया, एसी शताब्दी, जनरथ, एसी स्लीपर और महिला स्पेशल पिंक बसों में किराया बढ़ गया है. उत्तर प्रदेश रोडवेज ने करीब 2 साल पहले बसों का किराया बढ़ाया था. तब 9 पैसे प्रति किलोमीटर की दर से किराया बढ़ाया गया था. इसके बाद से अब तक किराया नहीं बढ़ा है.

रोडवेज द्वारा 10 प्रतिशत किराया बढ़ा दिया है. इस आदेश के बाद नोएडा डिपो से अलग-अलग रूटों पर जाने वाली बसों का किराया बढ़ गया है. अब नोएडा से ग्रेटर नोएडा जाने के लिए 30 रुपये देने होंगे. नोएडा से मेरठ जाने वाले यात्रियों को 73 रुपये देने पड़ते थे जो अब बढ़ कर 81 रुपये हो गया है. नोएडा से एटा जाने वाले लोगों को पहले 221 रुपये देने पड़ते थे जो बढ़ कर अब 241 हो गया है. नोएडा से हरिद्वार जाने वाले लोगों को अब 236 की जगह 252 रुपये देने होंगे.

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.