लखनऊ। उत्तर प्रदेश में भारतीय जानता पार्टी की योगी सरकार ने 18 मार्च को अपने कार्यकाल के तीन साल पूरे कर लिये हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को बताया। लखनऊ में बुधवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चुनौतियों और संभावनाओं के महासमर में संकल्पों और सिद्धांतों की नाव से यात्रा करते हुए आज उत्तर प्रदेश में हमारी सरकार ने तीन वर्ष पूरे कर लिए हैं।

सीएम योगी ने कहा कि हमने राज्य में कानून व्यवस्था बहाल की है, विकास कार्यों की गति को बढ़ाया और लोकतांत्रिक मूल्यों में आम लोगों के विश्वास को मजबूत किया है। इस दौरान सीएम योगी ने एक पुस्तक का विमोचन भी किया। सीएम योगी ने कहा कि 403 विधानसभाओं की अलग-अलग पुस्तिकाएं आ रही हैं। उन पुस्तिकाओं में देश, प्रदेश, जिले और उन विधानसभा क्षेत्र में हुए कार्यों का उल्लेख है। लखनऊ में बुधवार को इस पुस्तक के विमोचन के साथ ही गुरुवार से अगल-अलग जिलों में शुरू होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा के नेत्रत्व में उत्तर प्रदेश सरकार विकास, विश्वास और सुशासन के तीन वर्ष के कार्यकाल को पूरा करने जा रही है। उत्तर प्रदेश की धारणा को विकास, विश्वास में बदलने में हमें सफलता मिली इसके पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा है। लोकतांत्रिक मूल्यों और आदर्शों पर आम जन का विश्वास समाप्त हो रहा था उसे बहाल करते हुए उसे सुशासन की तरफ ले जाने में सफलता पाई है। इन तीन वर्षों में जो प्रदेश के सामने चुनौतियां थी उन्होंने ही हमें जूझने की प्रेरणा दी। इसी का परिणाम है कि यूपी पूरे देश में नए प्रतिमान स्थापित कर रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्ष 2019 में प्रयागराज कुंभ में 24 करोड़ 56 लाख श्रद्धालुओं ने अपनी सहभागिता बनाकर स्वच्छता, सुरक्षा और सुव्यवस्था का जो मानक प्रस्तुत किया, वह अपने आप में दुनिया के लिए यूनिक ईवेंट बन गया। वाराणसी में 15वां प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन ने नए मानक स्थापित किए। प्रदेश में लोकसभा चुनाव एक लाख 63 हजार बूथों पर बिना किसी हिंसा के सम्पन्न होना एक बड़ी उपलब्धि रही। उन्होंने कहा कि 68 वर्षों के बाद उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस का आयोजन की शुरूआत रही हो या फिर एक जिला एक उत्पाद योजना और यूपी इन्वेस्टर्स समिट, निवेश की संभावना को बढ़ाने की योजना, हर जिला मुख्यालय और तहसील मुख्यालयों को फोर लेन से जोड़ने, प्रदेश की एयर कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के प्रयास, इन सभी दिशाओं में हमने कार्य किये हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में सिर्फ दो से तीन एयरपोर्ट चल रहे थे, जबकि आज सात एयरपोर्ट संचालित हैं। 11 नए एयरपोर्ट में कार्य चल रहा है। प्रदेश के जेवर एयरपोर्ट को दुनियां की सौ सर्वश्रेष्ट परियोजनाओं में शामिल कराने में सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि ये विकास कार्य इस बात के प्रमाण है कि सोच बदली है। हमने जनविश्वास की बहाली की है। इसके कारण हम प्रदेश को विकास और विश्वास के एक नए दौर में ले जाने में सफलता प्रात की है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.