मुजफ्फरनगर. हाल ही में संपन्न हुए यूपी पंचायत चुनाव के बाद नवनिर्वाचित प्रधानों को शपथ दिला दी गई है. कोरोना संक्रमण के चलते प्रधानों को ऑनलाइन ही पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई गई. कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके, इसके लिए शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन दो दिन के लिए किया गया था. सभी प्रधानों को गांव में बने ग्राम पंचायत भवन से शपथ दिलाई गई.
हालांकि, मुजफ्फरनगर जिले में दो नवनिर्वाचित प्रधान ऐसे भी थे जिनको ग्राम पंचायत नहीं बल्कि जेल से शपथ दिलाई गई. दरअसल, इन दोनों प्रधानों को कर्फ्यू के उलंल्घन के आरोप में जेल भेजा गया था. बता दें कि लॉकडाउन के चलते इस दौरान किसी भी प्रकार के जश्न या जुलूस निकालने पर पाबंदी थी.
सीसीटीवी कैमरे के जरिए ली शपथ
जेलर कमलेश सिंह के मुताबिक, दोनों ने जेल अधिकारियों और पंचायत सदस्यों की मौजूदगी में सीसीटीवी कैमरे के जरिए शपथ ली. इस दौरान जेल अधिकारी और पंचायत सदस्य भी मौजूद रहे. चुनाव के बाद विजय जुलूस निकालते समय निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने और अशांति पैदा करने के आरोप में निर्वाचित ग्राम प्रधानों को एक दर्जन अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया गया था.
मांडवाड़ के ग्राम प्रधान गिरफ्तार
इस बीच, पुलिस ने बताया कि मांडवाड़ा के ग्राम प्रधान फैज़ मोहम्मद को निषेधाज्ञा की अवहेलना करने और हिंसा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. पुलिस के मुताबिक, उन्होंने और उनके समर्थकों ने मंगलवार को गांव में जुलूस निकाला था. उन्होंने बताया कि इस मामले में एक दर्जन से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.