लखनऊ। अयोध्या के तपस्वी छावनी के पीठाधीश्वर जगत गुरू परमहंस आचार्य ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित करने की मांग की है। परमहंस ने कहा कि यदि दो अक्तूबर, 2021 तक भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित नहीं होता है] तो वह गांधी जयंती वाले दिन अयोध्या स्थित सरयू में जल समाधि ले ले लेंगे। यह दावा परमहंस आचार्य ने मंगलवार को ब्राह्मण संरक्षण सेवा फाउंडेशन की ओर से प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता में किया।
फाउंडेशन के कार्यों की सराहना आचार्य ने की। फाउंडेशन के अध्यक्ष बिन्दुसार पांडेय ने सरकार से परमहंस आचार्य की मांग पर गंभीरता से चिंतन करने की मांग की है। बिन्दुसार ने कहा कि उनके फाउंडेशन के पदाधिकारी भी परमहंस आचार्य के साथ सरयू में जल समाधि लेंगे। श्री पांडेय ने कहा कि उत्तर प्रदेश में लगातार हो रही निर्दोष ब्राह्मणों की हत्या से प्रदेश का ब्राह्मण समाज स्वयं को अत्यंत भयभीत एवं असुरक्षित महसूस कर रहा है।
ब्राह्मणों के साथ सत्ता में बैठी सरकार असंवैधानिक एवं दुव्र्यवहार कर रही है। खुशी दुबे की रिहाई की मांग करते हुए बिंदुसार पांडेय ने भाजपा सरकार पर अयोध्या में हो रहे श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर निर्माण का श्रेय लूटने का आरोप भी लगाया। उन्होंने राम मंदिर पर सरकार द्वारा कराने जाने पर टिप्पणी की। कहा कि बीजेपी को श्रीराम जन्मभूमि का इतिहास पता नहीं है। राम मंदिर आंदोलन तथा राम मंदिर निर्माण में देश के 100 करोड़ हिन्दुओं की आस्था और सहयोग शामिल है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.