अयोध्या: अयोध्या में एक बार फिर भव्य दीपोत्सव मनाए जाने की तैयारियां चल रही हैं. इस बार भव्य दीपोत्सव में 7 लाख 50 हजार दीपक प्रज्वलित होंगे. अवध विश्वविद्यालय के 7000 वालंटियर साढ़े सात लाख दीपक जलाकर अपना ही कीर्तिमान दोबारा से तोड़ने का प्रयास करेंगे. राम नगरी के जितने भी ऐतिहासिक कुंड और पौराणिक इमारतें हैं उन पर भी दीपक प्रज्वलित किया जाएगा. महापौर का दावा है कि इस वर्ष का दीपोत्सव बेहद भव्य और दिव्य तरीके से मनाया जाएगा. एक बार फिर नया कीर्तिमान स्थापित करने का प्रयास किया जाएगा.
दुल्हन की तरह सजेगी अयोध्या
राम मंदिर निर्माण शुरू होने के बाद ये दूसरा दीपोत्सव है. ऐसे में संपूर्ण अयोध्या को जगमग दुल्हन की तरह सजाया जाएगा. गजेटियर में दर्ज ऐतिहासिक, पौराणिक कुंड और अयोध्या के सभी प्राचीन मंदिरों पर दीपक जलाए जाएंगे. योगी सरकार 5वीं बार भव्य दीपोत्सव मनाने जा रही है. इस बार का योगी सरकार का ये दीपोत्सव इस सरकार में आखिरी दीपोत्सव होगा. सरकार इस बार के दीपोत्सव को और भव्यता देने की तैयारी कर रही है.
नया कीर्तिमान स्थापित करने का प्रयास
पिछले सरकारों में अयोध्या उपेक्षित रही. 2017 में सूबे की कमान योगी आदित्यनाथ के हाथ में आई तो उन्होंने अयोध्या को उसकी गरिमा के अनुरूप विश्व के मानचित्र पर स्थापित करने का प्रयास शुरू किया. इसी कड़ी में सरकार बनने के साथ ही अयोध्या में भव्य दीपोत्सव मनाया गया जो पूरे विश्व में चर्चा का विषय रहा. अवध विश्वविद्यालय के वालंटियरों ने एक साथ तय समय सीमा में पिछले साल 551000 दीपक जलाकर अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ा था. अब एक बार फिर 7 लाख 50 हजार दीपक जलाने की तैयारी है. इस बार फिर अपने ही रिकॉर्ड को तोड़कर नया कीर्तिमान स्थापित करने का प्रयास होगा.
भव्यता से दीपोत्सव मनाने का प्रयास
अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने कहा कि प्रदेश में जब से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है और अयोध्या में दीपोत्सव का आगाज किया तब से ही नए-नए कीर्तिमान अयोध्या के नाम स्थापित हो रहे हैं. पिछले वर्ष भगवान श्री रामलला का भव्य मंदिर निर्माण शुरू हुआ था. पिछली बार कोरोना महामारी के बीच में भी 551000 दीपक जलाकर विश्व रिकॉर्ड स्थापित किया था और इस वर्ष भी और भव्यता से दीपोत्सव मनाने का प्रयास है.
कई दिनों तक मनाया जाएगा दीपोत्सव
महापौर ने कहा कि कई दिनों तक दीपोत्सव मनाया जाएगा. विदेशों की रामलीला का मंचन होगा. विशेष सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे. गजेटियर में दर्ज 108 कुंड पर भी दीपक जलाए जाएंगे. संपूर्ण अयोध्या में दीपावली मनाई जाएगी और दीपोत्सव में हर प्राचीन बिल्डिंग को सजाया जाएगा. साढ़े सात लाख की संख्या से भी ऊपर दीपक जल सकते हैं. राम नगरी में दीपावली भव्य तरीके से मनाई जाएगी.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.