चित्रकूट: जिले में जेल हत्याकांड से जुड़े आरोपी अंशुल दीक्षित का वीडियो इस समय खूब वायरल हो रहा है. इस वीडियो में शार्पशूटर अंशुल दीक्षित अपने गुर्गों के साथ बैठा है. वह जेल के अंदर ही शराब मंगाने की बात कर रहा है. अपने गुर्गों को फोन देते हुए वह कह रहा है कि इससे बात करो. वहीं, गुर्गे द्वारा यह कहा जा रहा है कि ‘क्या तुम गुप्ता बोल रहे हो. यह रायबरेली जेल है. यहां खुलेआम हम लोग घूमते हैं. जिस दिन तुम्हें बुलाएंगे, उसी दिन इसी जेल में दफन कर देंगे.’
जेल प्रशासन की बड़ी लापरवाही
एक मिनट 17 सेकंड के इस रायबरेली जेल के वीडियो को 3 साल पुराना बताया जा रहा है. इसमें जेल के अंदर बेखौफ होकर अंशुल दीक्षित जैसे अपराधी अपनी गैंग चलाते दिख रहे हैं. जेल के अंदर ही उन्हें फोन मुहैया करवाया गया. जेल के अंदर अगर उन्हें शराब परोसी जा रही है. चित्रकूट जेल के अंदर पिस्तौल आना कोई बड़ी बात नहीं. इस वीडियो से यह साफ हो जाता है कि जेल प्रशासन किस तरह अपराधियों को जेल के अंदर फलने फूलने में मदद और गुर्गों को पनाह देता है.
पुलिस पर भी की फायरिंग
दरअसल, चित्रकूट जिला कारागार में शुक्रवार (14 मई) को जेल में हड़कंप मच गया था. जेल में सीतापुर के रहने वाले आरोपी अंशुल दीक्षित ने अपने सह बंदियों पर गोली चलाकर दो को मौत के घाट उतार दिया था. सूचना पर पहुंची पुलिस ने उसे आग्रह के साथ आत्मसमर्पण के लिए कहा, लेकिन वह पुलिस पर भी फायरिंग करने लगा. इसी दौरान पुलिस द्वारा आत्मरक्षा में की गई फायरिंग में वह मारा गया.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.