संत कबीर नगर – यूपी के संत कबीर नगर जिले में लगता है कि कुम्हारों की दशा और दिशा देखने वाला कोई नहीं क्योंकि हालात दिन ब दिन खराब होते जा रहे हैं और इनकी रोजी रोटी के लाले पड़ते जा रहे हैं । कुम्हारौ की दशा यह है कि काम तो कर रहे हैं लेकिन उनका पूरा श्रम नहीं निकल पा रहा है ।

जिससे आए दिन वो अपने कारोबार को लेकर चिंतित रहते हैं देखने वाली बात यह है कि कुम्हारौ के लिए तमाम योजनाएं बनाई गई लेकिन जमीनी स्तर पर संत कबीर नगर जिले में उसका सीधा सीधा फायदा कुम्हारौ तक नहीं पहुंच पा रहा है जिसकी वजह से आज संत कबीर नगर के लगभग पूरे कुम्हार समाज के लोग अपनी जीविका के लिए तरह-तरह के अलग कामों में अब रुचि लेने लगे वहीं संत कबीर नगर जिले में कलक्ट्रेट मुख्यालय से मात्र कुछ कदम की दूरी पर कुछ कुमार के परिवार निवास करते हैं।

उनकी दशा और दिशा को देखा जाए तो शायद पूर्व की सरकारों से इस सरकार में उनकी हालत पहले से ज्यादा खस्ता नजर आती है उनके बताने के मुताबिक कुछ तो चाइनीस खिलौनों ने और कुछ राजनीतिक उठापटक में चली गई अब बचा कुछा है जिसमें अपनी रोजी जैसे तैसे चल जा रही है गौरतलब बात यह है कि धीरे-धीरे कर कुम्हार अब जिले में अपने कारोबार को बदलने का प्रयास कर रहे हैं और कुछ कुम्हार यहां से अब दूसरे शहर जा कर अपनी रोजी रोटी कमाने का तलाश कर रहे हैं ।

जिंदगी यूं ही भाग दौड़ में चलती रहेगी या फिर सरकारें से कारीगरों को अपने हुनर दिखाने का मौका भी देगी । देखने वाली बात होगी इनको कुम्हारौ को देखने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदम जमीन पर कितनी हकीकत दिखा सकते हैं ,आने वाला समय ही बताएगा ।

रिपोर्ट – न्यूज नेटवर्क 24

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.