लखनऊ। लापरवाही आपकी मेहनत की कमाई पर पानी फेर सकती है। यह कहना शहर के उन लोगों के लिए है जो स्मार्ट बनने के लिए ऑनलाइन लेनदेन तो शुरू कर देते हैं, लेकिन उससे जुड़े सुरक्षा उपायों की अनदेखी कर देते हैं। नतीजा उनका साइबर फ्राड का शिकार हो जाना। साइबर क्राइम के आंकड़े बताते हैं कि शहर में साइबर फ्राड के सबसे ज्यादा मामले इंदिरा नगर और दूसरे नंबर पर हजरतगंज में है। वहीं सरोजनीनगर व पीजीआई तीसरे नंबर पर सामने आये है। जबकि इन थाना क्षेत्र में सबसे ज्यादा शिक्षित आबादी रहती है।

साइबर एक्सर्ट के मुताबिक यह चौकाने वाले आंकड़े के पीछे साइबर सुरक्षा के इंतजाम का इस्तेमाल न कर लापरवाही से खातों में लेनदेन या ऑन-लाइन शॉपिंग करना है।  एटीएम क्लोनिंग व ऑन-लाइन शॉपिंग के सबसे ज्यादा केस शहर में सबसे ज्यादा केस खाते की डिटेल पूछ कर खाते से रकम उड़ाने या उससे ऑन-लाइन शॉपिंग के मामले आ रहे हैं।साइबर ठग मोबाइल पर लिंक भेजकर, फोन पर खाते की डिटेल मांग कर और वेबसाइट हैक कर ठगी करते हैं। बैंक कभी फोन कर कोई जानकारी नहीं लेती। यदि ऐसा कुछ आपके मोबाइल पर आए तो उसे न ही क्लिक करें और न ही अपना बैंक डिटेल दें।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.