उत्तर प्रदेश के कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में 25 नवंबर से होने वाले टेस्ट मैच के लिए टीम इंडिया के 11 खिलाड़ी कानपुर पहुंच गए हैं. ये खिलाड़ी अगले तीन दिनों तक क्वारंटीन रहेंगे और इस दौरान ये कहीं नहीं जा सकेंगे. इन तीनों में खिलाड़ी प्रैक्टिस भी नहीं कर सकेंगे. वहीं ये खिलाड़ी 23 और 24 नवंबर को अन्य खिलाड़ियों के साथ स्टेडियम में प्रैक्टिस करेंगे.
जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को भारतीय टेस्ट टीम के 11 खिलाड़ी 25 नवंबर से ग्रीन पार्क स्टेडियम में आयोजित होने वाले टेस्ट मैच के लिए कानपुर पहुंच गए. इन खिलाड़ियों को एयरपोर्ट से स्पेशल बस से होटल ले जाया गया, जहां तीन दिन तक खिलाड़ियों को क्वारंटीन किया गया है. चकेरी एयरपोर्ट पर कप्तान अजिंक्य राहानो उपकप्तान चेतेश्वर पुजारा, मयंक अग्रवाल, शुभमन गिल, रिद्धिमान साहा, केएस भरत, जयंत यादव, इशांत शर्मा, उमेश यादव और प्रसिद्ध कृष्णा पहुंचे और वहां से विशेष बस से इन खिलाड़ियों को होटल पहुंचाया गया. जबकि रवींद्र जडेजा लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे और इसके बाद वह कार से कानपुर पहुंचे. कानपुर के होटल ग्रांड में इन खिलाड़ियों के रूकने की व्यवस्था की गई है और यहां पर ये सभी 11 खिलाड़ी क्वारंटीन रहेंगे. यहां पर खिलाड़ियों के लिए उन कर्मचारियों को तैनात किया गया है. जिन्हें वैक्सीन लग चुकी है. वहीं स्टॉफ को भी कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों से गुजरना होगा.
23 और 24 नवंबर को स्टेडियम में करेंगे प्रैक्टिस
भारतीय टीम का स्थानीय प्रबंधक बनाए गए कानपुर क्रिकेट संघ के सचिव आलोक गुप्ता ने बताया कि तीन दिन तक होटल में खिलाड़ियों को क्वारंटीन किया गया है. उनका कहना है कि ये 11 खिलाड़ी 22 नवंबर को आने वाली भारतीय टीम के बाकी खिलाड़ियों के साथ बायो बबल (कोरोना से बचाने के लिए खिलाड़ियों के लिए बनाया गया सुरक्षित वातावरण) में शामिल हो जाएंगे और इसके बाद 23 और 24 नवंबर को स्टेडियम में प्रैक्टिस करेंगे.
स्टेडियम का 15 लाख किराया देगा यूपीसीए
भारत और न्यूजीलैंड के बीच 25 से 29 नवंबर तक होने वाले टेस्ट मैच के लिए यूपीसीए खेल विभाग को 15 लाख रुपए स्टेडियम का किराया देगा. यानी एक दिन का 3 लाख किराया यूपीसीए यूपी के खेल विभाग को देगा.
मैच के लिए चार फ्लड लाइट्स तैयार
ग्रीन पार्क स्टेडियम में होने वाले मैच के लिए स्टेडियम के चारों फ्लड लाइट्स की टेस्टिंग हो चुकी है और बुधवार को काफी देर तक इन लाइट्स को जलाकर देखा गया और यूपीसीए के नोडल अधिकारी अनिल कामसे ने बताया कि लाइटें ठीक हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.