mariyappan

ब्राजील के रियो डी जनेरियो में जारी पैरालम्पिक खेलों में पुरुषों की ऊंची कूद टी-42 स्पर्धा में भारतीय एथलीट मारियप्पन थांगावेलु ने स्वर्ण पदक जीता। इसके अलावा मारियप्पन के हमवतन और ऊंची कूद एथलीट वरुण सिंह भाटी ने इसी स्पर्धा में कांस्य पदक अपने नाम किया। इस स्पर्धा में जहां एक ओर मारियप्पन ने 1.89 मीटर की कूद लगाई। वहीं, भाटी ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 1.86 मीटर की कूद लगाई।

अमेरिका के सैम ग्रेवे ने इस स्पर्धा में रजत पदक जीता। इस स्पर्धा में 12 में से छह एथलीटों के बीच कड़ी टक्कर देखी गई। हालांकि, मारियप्पन ने भाटी के साथ मिलकर बढ़त हासिल की। इस स्पर्धा में हिस्सा लेने वाले भारतीय एथलीट शरद कुमार कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए और पदक दौड़ से बाहर हो गए। उन्हें छठा स्थान हासिल हुआ। मारियप्पन और भाटी के साथ अमेरिका के ग्रेवे ने भी बेहतरीन प्रदर्शन किया और आगे बढ़ने की कोशिश की, लेकिन भारतीय एथलीटों ने वापसी करते हुए पदक हासिल किए। ग्रेवे ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर भाटी को पछाड़ते हुए रजत पदक पर कब्जा जमाया और भाटी को कांस्य पदक हासिल हुआ।

मोदी, ने जीतने पर बधाई दी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को भारत के ऊंची कूद के पैरालम्पिक एथलीट मारियप्पन थांगावेलु को रियो पैरालम्पिक में स्वर्ण पदक जीतने पर बधाई दी।
मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, “भारत खुश है। रियो पैरालम्पिक में मारियप्पन को स्वर्ण जीतने और भाटी को कांस्य पदक जीतने पर बधाई।”


मारियप्पन के अलावा उनके हमवतन और ऊंची कूद एथलीट वरुण सिंह भाटी ने इसी स्पर्धा में कांस्य पदक अपने नाम किया। मारियप्पन की जीत को बेहतरीन बताते हुए सोनिया ने कहा, “एक नया इतिहास रचा गया है। इन एथलीटों का बेहतरीन और अद्वितीय प्रदर्शन आने वाली पीढ़ी को प्रेरित करेगा।”

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.