इंडियन प्रीमियर लीग 2021 के दूसरे क्वालिफायर में दिल्ली कैपिटल्स को कोलकाता नाइट राइडर्स को 3 विकेट से हरा दिया. दिल्ली को हराकर कोलकाता नाइट राइडर्स ने फाइनल में जगह बना ली और अब 15 अक्टूबर को खिताबी मुकाबले में वो चेन्नई सुपरकिंग्स से भिड़ेगी. शारजाह में खेले गए दूसरे क्वालिफायर में दिल्ली कैपिटल्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 5 विकेट पर 135 रन बनाए. जवाब में कोलकाता नाइट राइडर्स ने एक गेंद पहले जीत हासिल की. कोलकाता को जीत के लिए अंतिम दो गेंद पर 6 रन चाहिए थे और राहुल त्रिपाठी ने छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिला दी.
कोलकाता तीसरी बार आईपीएल फाइनल में
कोलकाता नाइट राइडर्स की जीत के हीरो वेंकटेश अय्यर, राहुल त्रिपाठी और शुभमन गिल बने. वेंकटेश अय्यर ने इस अहम मुकाबले में 41 गेंदों में 55 रन बनाए. अपने अर्धशतक में वेंकटेश अय्यर ने 3 छक्के और 4 चौके लगाए. उनका स्ट्राइक रेट 134.15 रहा. शारजाह की पिच पर ऐसा स्ट्राइक रेट सच में कमाल की बात है. वेंकटेश अय्यर ने शुभमन गिल के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 74 गेंदों में 96 रनों की साझेदारी की. यही साझेदारी दिल्ली कैपिटल्स पर भारी पड़ी और ये टीम एक बार फिर आईपीएल नहीं जीत सकी. वहीं दूसरी ओर कोलकाता नाइट राइडर्स ने तीसरी बार फाइनल में जगह बनाई है. कोलकाता दोनों बार जब फाइनल में जगह बनाई थी तो उसने खिताब भी जीता था. कोलकाता ने 2012 और 2014 में आईपीएल चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था.
कोलकाता ने जीता टॉस, दिल्ली की पहले बल्लेबाजी
शारजाह की पिच पर कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान ऑयन मॉर्गन ने टॉस जीतकर दिल्ली कैपिटल्स को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया. दिल्ली के कप्तान पंत इस फैसले से खुश दिखे. दिल्ली को पृथ्वी शॉ और शिखर धवन ने तेज शुरुआत दी. शॉ ने 12 गेंदों में 2 चौके और एक छक्के की मदद से 18 रन बनाए. लेकिन पांचवें ओवर में वरुण चक्रवर्ती ने अपनी पहली ही गेंद पर शॉ को आउट कर कोलकाता की वापसी कराई. इसके बाद स्टोयनिस क्रीज पर आए और उन्हें केकेआर के गेंदबाजों से फंसा लिया. स्टोयनिस 23 गेंदों में 18 रन ही बना सके. धवन भी 39 गेंदों में 36 रनों की संघर्ष भरी पारी खेलकर वरुण चक्रवर्ती का शिकार बने. कप्तान पंत 6 रन ही बना सके. हालांकि श्रेयस अय्यर ने 27 गेंदों में नाबाद 30 बनाकर किसी तरह दिल्ली को 135 रनों तक पहुंचा दिया.
कोलकाता ने एकतरफा मुकाबला फंसाया
कोलकाता को शुभमन गिल और वेंकटेश अय्यर ने कमाल की शुरुआत दी. दोनों ने पहले विकेट के लिए 96 रन जोड़कर दिल्ली कैपिटल्स को मुकाबले से लगभग बाहर कर दिया था लेकिन वेंकटेश अय्यर का विकेट गिरते ही मैच अचानक बदलने लगा. कागिसो रबाडा ने दिल्ली की मैच में वापसी कराई. उन्होंने पहले वेंकटेश अय्यर को आउट किया और उसके बाद इस तेज गेंदबाज ने 18वें ओवर में महज 1 रन देकर दिनेश कार्तिक का भी विकेट चटकाया.
19वें ओवर में नॉर्किया ने भी महज 3 रन देकर ऑयन मॉर्गन को आउट किया और आखिरी ओवर में केकेआर को 6 गेंद में 7 रनों की दरकार थी. आखिरी ओवर अश्विन ने फेंका और पहली चार गेंदों पर उन्होंने महज 1 रन देकर शाकिब अल हसन और सुनील नरेन को आउट कर मैच को रोमांचक बना दिया. अंतिम दो गेंदों पर केकेआर को 2 गेंद में 6 रन चाहिए थे और राहुल त्रिपाठी ने लॉन्ग ऑफ की ओर छक्का लगाकर अपनी टीम को फाइनल में पहुंचा दिया.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.