नई दिल्‍ली :क्रिकेट के सबसे पुराने और सबसे सम्मानजनक फॉर्मेट यानी टेस्ट क्रिकेट को देखने का नजरिया बदलने का समय आ चुका है। 1877 से जिस रंग और ढंग में चला आ रहा टेस्ट क्रिकेट भी अब नए चोलों के साथ तैयार है।

27 नवंबर ये वो तारीख है जब क्रिकेट इतिहास का पहला डे नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा। एडिलेड ओवल के मैदान पर आमने-सामने होंगी ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की टीमें। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच खेली जाने वाली टेस्ट सीरीज का यह तीसरा टेस्ट होगा। कृत्रिम रोशनी में खेले जाने वाले इस मैच में पिंक कुकुबूरा गेंद का इस्तेमाल होगाये टेस्ट मैच स्थानीय समयानुसार दोपहर 2.30 बजे शुरू होगा और रात 9.30 बजे तक चलेगा। इस मैच में डिनर ब्रेक के नाम से दूसरे और तीसरे सत्र के बीच होगा। यानि टेस्ट परंपरा से हटकर 40 मिनट का लंबा ब्रेक जिसे दिन के टेस्ट में ‘लंच’ के रूप में जाना चाहता है, वो डे-नाइट टेस्ट में दूसरे और तीसरे सत्र के बीच में हो सकता है और इसे ‘डिनर’ कहा जाएगा। टी-20 और फटाफट क्रिकेट के युग में आईसीसी ने टेस्ट क्रिकेट को डे-नाइट बनाकर क्रिकेट के सबसे पुराने फॉर्मेट को नई जान डालने की कोशिश की है। अब देखना ये क्या टेस्ट क्रिकेट रंगीन अंदाज दर्शकों को कितना पंसद आता है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.