यह सुनने में थोड़ा अजीब है, लेकिन सच है कि क्रिकेट मैच में किसी टीम के 11 बल्लेबाज मिलकर महज तीन रन ही बना सके। इसमें भी बल्ले से मात्र एक रन बना और शेष दो अतिरिक्त रन थे। इंग्लैंड के चेशायर लीग डिवीजन तीन मैच में टेन विराल क्रिकेट क्लब के दस बल्लेबाज हेसलिंगटन के खिलाफ शून्य पर आउट हो गए।
इस क्लब मैच में 109 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए विराल की टीम ने केवल तीन रन बनाए। इनमें से दो अतिरिक्त रन थे जबकि 11वें नंबर के बल्लेबाज कोनोर हॉबसन ही खाता खोल पाए। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार बेन इस्टीड ने छह जबकि टॉम ग्लेडहिल ने बाकी चार बल्लेबाजों को आउट किया। इस शर्मनाक प्रदर्शन के बावजूद यह क्रिकेट इतिहास का सबसे बुरा प्रदर्शन नहीं है। समरसेट का क्लब लैंगपोर्ट 1913 में एक मैच में ग्लेस्टनबरी के खिलाफ शून्य पर ढेर हो गया था।
प्रथम श्रेणी क्रिकेट की बात करें तो न्यूनतम स्कोर छह रन है। इंग्लैंड के खिलाफ द बी टीम ने 1810 में ये रिकॉर्ड बनाया था। वहीं टेस्ट मैच में न्यूनतम स्कोर 26 रन है, जिसे 1955 में न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था। विराल क्लब ने बाद में ट्वीट किया, ‘टीम आज 105 रन से हार गई। दुखद यह है कि विरोधी टीम केवल 108 रन ही बना पायी थी।’ मैच के बाद विराल क्लब ने इंग्लैंड के जाने माने क्रिकेटर माइकल वॉन और टीवी कमेंटेटर डेविड लॉयड से कोचिंग की अपील भी की।download (1)

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.