न्यूजीलैंड के खिलाफ इडेन पार्क स्टेडियम में शनिवार को हुए तीसरे वनडे मुकाबले में रवींद्र जडेजा (66) ने अपनी धमाल अर्धशतकीय पारी की बदौलत भारत को jadejaसे बचा लिया, हालांकि वह मुकाबला टाई करवाने में ही कामयाब हो सके। पांच मैचों की सीरीज में 0-2 से पीछे चल रही भारतीय टीम पर हालांकि अभी भी हार का खतरा मंडरा रहा है, जबकि अंतिम दोनों मैच जीतकर वह सिर्फ सीरीज को बराबरी पर हो रोक सकते हैं। न्यूजीलैंड से मिले 315 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम निर्धारित 50 ओवरों में नौ विकेट पर 314 रन बना सकी।जडेजा ने आखिरी ओवरों में तेज हाथ दिखाते हुए 45 गेंदों में पांच चौके और चार छक्के लगाए। भारत को आखिरी ओवर में जीत के लिए 18 रनों की दरकार थी, जिसका पीछा करते हुए जडेजा ने दो चौके एक छक्का लगाकर 17 रन बटोरे। आखिरी गेंद पर भारत को दो रनों की जरूरत थी, जिस पर जडेजा एक रन ही ले सके।भारत के लिए कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (50) और आर अश्विन (65) ने महत्वपूर्ण अर्धशतकीय पारियां खेलीं। धौनी ने 60 गेंदों में दो चौके और तीन छक्का लगाया, जबकि अश्विन ने हरफनमौला खेल का प्रदर्शन करते हुए 46 गेंदों में आठ चौके और एक छक्का लगाया।इससे पहले, टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में सभी विकेट गंवाकर 314 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया। न्यूजीलैंड की ओर से सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल (111) ने शतकीय पारी खेली, जबकि केन विलियमसन (65) ने भी अहम योगदान दिया।आखिरी ओवरों में ल्यूक रोंची (38) और टिम साउथी (27) ने तेजी से रन बटोरे। भारती की तरफ से जडेजा सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 4.7 की इकॉनमी से 47 रन दिए और दो विकेट हासिल किए, जबकि न्यूजीलैंड की ओर से एंडरसन ने भारत के पांच बल्लेबाजों को चलता किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.