india-hockey-team-620x400लखनऊ। हॉकी का शहंशाह बनने में भारत बस एक कदम दूर है.भारत ने जूनियर हॉकी वर्ल्‍ड कप के फाइनल में जगह बना ली है। फाइनल में भारत का मुकाबला बेल्जियम से होगा। भारत 15 साल बाद जूनियर हॉकी वर्ल्‍ड कप के फाइनल में पहुंचा है। भारत ने सेमीफाइनल में ऑस्‍ट्रेलिया को पेनल्‍टी शूटआउट में 4-2 से हराया। इससे पहले 70 मिनट के खेल में दोनों टीमें 2-2 से बराबर रहीं थीं। बेल्जियम ने पहले सेमीफाइनल में जर्मनी को शूटआउट में हराया।भारतीय टीम के गोलकीपर विकास दहिया को प्‍लेयर ऑफ द मैच चुना गया। दहिया ने मैच के दौरान कई शानदार बचाव किए। साथ शूटआउट के दौरान भी दबाव में वे शांत रहे और ऑस्‍ट्रेलिया के दो हमलों को नाकाम किया।
हरमनप्रीत सिंह ने दूसरा गोल दाग भारत को बढ़त दिलाई
मैच की शुरुआत से ही भारत ने विपक्षी गोलपोस्‍ट पर हमले बोले लेकिन कामयाबी नहीं मिली। इसी बीच ऑस्‍ट्रेलिया के टॉम क्रेग ने 14वें मिनट में पेनल्‍टी कॉर्नर से गोल दाग कर कंगारूओं को 1-0 से बढ़त बना ली। इसके बाद भारत ने भी हमले तेज किए और पेनल्‍टी कॉर्नर हासिल किया लेकिन गोल नहीं हो पाया। 35 मिनट के पहले हाफ की समाप्ति तक ऑस्‍ट्रेलिया के पास 1-0 की बढ़त थी। दूसरे हाफ की शुरुआत से ही भारतीय अग्रिम पंक्ति का रूख बदला हुआ नजर आया। इसका फायदा भी देखने को मिला। 42वें मिनट में गुरजंट सिंह ने मैदानी गोल दागते हुए टीम इंडिया को बराबरी दिला दी। छह मिनट बाद ही हरमनप्रीत सिंह ने दूसरा गोल दाग भारत को बढ़त दिला दी।
भारत ने अपने शुरुआती चारों मौके भुना दिए
भारत हालांकि इस बढ़त को ज्‍यादा देर तक बरकरार नहीं रख पाया। लाचलान शार्प ने 57वें मिनट में गोल कर मैच बराबरी पर ला दिया। इसके बाद ऑस्‍ट्रेलिया ने एक के बाद एक कई पेनल्‍टी कॉर्नर हासिल किए। लेकिन भारतीय गोलकीपर ने उन्‍हें नाकाम कर दिया। अंतिम हूटर बजने तक दोनों टीमें 2-2 से बराबर रहीं। इसके चलते मैच पेनल्‍टी शूटआउट में गया। भारत ने अपने शुरुआती चारों मौके भुना दिए। लेकिन ऑस्‍ट्रेलिया पहला गोल दागने के बाद दूसरे और तीसरे राउंड में गोल नहीं दाग पाया। चौथे राउंड में उसकी ओर से गोल हुआ लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। भारत की जीत के बाद कई हस्तियों ने टीम इंडिया ने बधाई दी। इनमें क्रिकेटर गौतम गंभीर, सीनियर हॉकी टीम के सदस्‍य रुपिंदरपाल सिंह, पीआर श्रीजेश शामिल हैं। गौरतलब है कि श्रीजेश इस टूर्नामेंट के लिए टीम के साथ हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.