पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद इरफान ने हाल ही में 2012 के भारत दौरे को याद किया है, जिसमें भारतीय बल्लेबाजी में गौतम गंभीर, वीरेंद्र सहवाग, विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह जैसे दिग्गज थे। पाकिस्तान टी-20 सीरीज 1-1 से ड्रॉ खेल चुका था। इसके बाद उसने वनडे सीरीज 2-1 से जीती थी। सात फिट लंबे मोहम्मद इरफान ने नई गेंद से जबरदस्त प्रभाव छोड़ा था। हाल ही में एक इंटरव्यू में मोहम्मद इरफान ने दावा किया है कि गौतम गंभीर उनकी गेंद नहीं देख पा रहे थे।

मोहम्मद इरफान ने समा टीवी को पिछले साल दिए एक इंटरव्यू में यह दावा किया था कि उन्होंने इस सीरीज में गौतम गंभीर का अंत कर दिया था। सीरीज के दौरान पांच मैचों में से दो बार इरफान ने गौतम गंभीर को आउट किया था। हाल ही में पाकिस्तानी ब्रॉडकास्टर सवेरा पाशा के यूट्यूब चैनल पर उन्होंने 2012 की सीरीज को एक बार फिर से याद किया।

उन्होंने कहा, ”भारत और पाकिस्तान के बीच जब भी कोई सीरीज होती है और कोई खिलाड़ी परफॉर्म नहीं करता, वह जीरो हो जाता है। गंभीर के करियर की भी यह अंतिम सीरीज साबित हुई। जिस तरह मैं गंभीर को गेंदबाजी कर रहा था, वह गेंद को बिल्कुल भी नहीं देख पा रहे थे। जिस तरह वह बाउंसर खेल रहे थे, हर व्यक्ति कह रहा था कि यह गौतम की तरह नहीं खेल रहे हैं।” अपनी बात को समझाते हुए उन्होंने कहा, ”क्योंकि मेरी हाइट और मेरी स्विंग के कारण उन्हें गेंद देखने में भी दिक्कत हो रही थी। यही दबाव था, जिसे गौतम गंभीर झेल नहीं पाए। उसके बाद वह टीम से बाहर कर दिए गए।”

मोहम्मद इरफान ने कहा, ”शायद मेरी वजह से ही उनका क्रिकेट करियर खत्म हुआ था और इस बात को मैं पहले भी चुका हूं। लिहाजा 2012 में यह उनका अंतिम दौरा साबित हुआ और मैं ऐसा इसलिए बोलता हूं, क्योंकि वह उसके बाद सिर्फ एक सीरीज ही खेल पाए और उसके बाद कभी टीम में वापस नहीं आ पाए।” गौतम गंभीर को इंडियन क्रिकेट का ग्रेट बल्लेबाज माना जाता है। 58 टेस्ट मैचों में उन्होंने 41.85 की औसत से 4154 रन बनाए। उन्होंने 147 वनडे मैचों में भी 5238 रन बनाए। गौतम ने 37 टी-20 इंटरनैशनल में भी 932 रन बनाए।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.