रियो डि जिनिरियो। आलोचनाओं से घिरी जर्मनी की टीम आज यहां माराकाना स्टेडियम में फीफा विश्व कप क्वार्टरफाइनल में आत्मविश्वास से भरी फ्रांस से भिड़ेगी, जो दो यूरोपीय पावरहाउस टीमों के बीच रोमांचक मुकाबला होगा।
यह मैच जर्मनी के कोच जोकिम लोउ के लिये अग्निपरीक्षा साबित होगा क्योंकि उनकी टीम को इस विश्व कप में लचर प्रदर्शन के लिये कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। इसलिये मंगलवार को बेलो होरिजोंटे में ब्राजील या कोलंबिया से होने वाला सेमीफाइनल स्थान दाव पर लगा है। लोउ ने 2006 विश्व कप के बाद से टीम की कोचिंग जिम्मेदारी संभाली थी। उन्होंने कहा, डिडिएर डेसचैम्पस ने 2010 के बाद से फ्रांस को बदल दिया है और हम एक और क्लासिक मुकाबले के लिये तैयार हैं। पुर्तगाल के खिलाफ शुरुआती ग्रुप मैच में 4-0 की जीत ने विश्व की शीर्ष टीमों के बीच उनके दर्जे की पुष्टि की लेकिन लगातार निरशाजकन प्रदर्शनों से लोउ की टीम को कड़ी आलोचना सहनी पड़ रही है। घाना से 2-2 से ड्रा और अंतिम ग्रुप मैच में अमेरिका पर 1-0 की जीत के बाद सोमवार को अंतिम 16 के मुकाबले में कड़ी मशक्कत के बाद उसे अल्जीरिया से अतिरिक्त समय में 2-1 से जीत मिली।AP7_3_2014_000009B

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.