ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज मार्नस लाबुशेन ने कहा है कि जब क्रिकेट दोबारा शुरू हो तब अगर कुछ नियमों में बदलाव किए जाते हैं तो खिलाड़ियों को इसके लिए तैयार रहना चाहिए। कोरोना वायरस के कारण यह बात उठने लगी है कि गेंद को चमकाने के लिए सलाइवा (लार) का उपयोग होना चाहिए या नहीं। क्रिकेट में लार का प्रयोग रोकने पर बोले लाबुशेन

सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड ने लाबुशेन के हवाले से लिखा है, “हर किसी का लक्ष्य मैदान पर वापसी करना है, इसलिए जो भी बलिदान या हल्के-फुल्के बदलाव खेल में होते हैं तो, हम खिलाड़ियों को उन्हें मानना चाहिए और उन नए नियमों का पालन करना चाहिए, अगर ऐसा होता है तो।”

लाबुशेन ने कहा कि यह थोड़ा अटपटा लगेगा, क्योंकि यह हमारी आदत में शुमार हो चुका है। उन्होंने कहा, “यहां तक गेंद को चमकाने की बात है तो यह थोड़ा अजीब होगा। जब आप मैदान पर होते हो तो यह स्वाभाविक है कि अगर आप गेंद चमकाने वाले खिलाड़ी हो तो आप अपनी लार को गेंद के रफ एरिया पर लगाओगे। अगर ऐसा नहीं होता है तो ठीक है। हमें इस स्थिति से ऐसे ही निपटना होगा।”

बता दें कि चीन के वुहान शहर से दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण ने हाहाकार मचा दिया है। पिछले कई दिनों से हजारों मौतें हो रही हैं। अब यह आंकड़ा ढाई लाख के पार पहुंच गया है। वहीं, संक्रमित मरीजों की संख्या 35 लाख से अधिक है।

जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने अपने नवीनतम अपडेट में बताया गया कि मंगलवार सुबह तक वैश्विक स्तर पर मौत का आंकड़ा 2,51,519 था।  वहीं, वर्तमान में दुनिया में सबसे अधिक मौतें अमेरिका में हुई हैं। यहां 68,922 लोग इस खतरनाक वायरस के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं।

सीएसएसई डेटा के अनुसार, 20,000 से अधिक मौतों वाले अन्य देश की बात करें तो इटली में 29,079, यूके में 28,809, स्पेन में 25,428 और फ्रांस में 25,204 मौतें हो चुकी हैं।  मंगलवार की सुबह कोविड-19 मामलों की वैश्विक संख्या 35,82,469 थी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.