किंग्स इलेवन पंजाब ने अपनी शानदार लय जारी रखते हुए
शुक्रवार को यहां इंडियन प्रीमियर लीग में राजस्थान रॉयल्स को 16 रन से panjavकी जिससे अंक तालिका में चौथे स्थान की पहुंचने की लड़ाई जारी रहेगी। पंजाब तेरह मैचों में दस जीत से 20 अंक से पहले स्थान पर कायम है जबकि शुरुआती चरण की चैंपियन राजस्थान रॉयल्स की टीम अगर जीत दर्ज कर लेती तो वह प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने वाली चौथी टीम बन जाती क्योंकि अंक तालिका में शीर्ष तीन टीमें किंग्स इलेवन पंजाब, चेन्नई सुपरकिंग्स और कोलाकाता नाइटराइडर्स पहले ही क्वॉलीफाई कर चुकी हैं। लेकिन इस हार से ऐसा नहीं हो सका और मुंबई इंडियंस के लिए मौका बना हुआ है जिसके 13 मैचों में 12 अंक हैं। राजस्थान के 13 मैचों में सात जीत से 14 अंक हैं।
बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब ने शॉन मार्श की 35 गेंद में 40 रन की पारी के बाद अंत में कप्तान जॉर्ज बेली और डेविड मिलर के तेजी से रन जुटाने से चार विकेट पर 179 रन का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया। पिछले मैच में मुंबई इंडियंस से हारने वाली पंजाब ने अपने स्टार खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल को इस मैच में आराम देने का फैसला किया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी राजस्थान रॉयल्स लगातार अंतराल पर विकेट गंवाने से आठ विकेट पर 163 रन ही बना सकी। उसके लिए अंत में जेम्स फॉकनर 13 गेंद में चार छक्के और एक चौके से नाबाद 35 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे। पिछले मैच में मुंबई इंडियंस से 25 रन की शिकस्त झेलने वाली राजस्थान के लिए आखिर में ब्रैड हॉज ने 18 गेंद में दो छक्के और दो चौके से 31 रन की पारी खेली, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी और यह पारी टीम के काम नहीं आ सकी।
संजू सैमसन ने 30 रन का योगदान दिया। अंजिक्य रहाणे भी धमाल नहीं कर सके और 26 गेंद में दो चौके से 23 रन ही बना पाए। टीम ने सलामी बल्लेबाज करुण नायर का विकेट तीसरे ओवर में खो दिया था। लेकिन नौंवां ओवर उनके लिए खराब साबित हुआ जिसमें रिषि धवन ने पहली गेंद पर सलामी बल्लेबाज रहाणे और दूसरी गेंद पर शेन वॉटसन को बोल्ड कर उनके विकेट हासिल किए। इस समय टीम का स्कोर तीन विकेट पर 56 रन था। दस ओवर के बाद राजस्थान ने तीन विकेट पर 64 रन बनाए थे और उसे अगली 60 गेंद में 116 रन की जरूरत थी जो असंभव ही था और मैच उनके हाथ से निकल चुका था। करणवीर सिंह ने स्टुअर्ट बिन्नी और सैमसन के विकेट झटके। राहुल तेवतिया ने थोड़ी आक्रामकता दिखायी, लेकिन वे अक्षर पटेल की गेंद पर करणवीर को सीमारेखा पर कैच दे बैठे। पंजाब की ओर से अक्षर पटेल ने 24 रन देकर तीन जबकि करणवीर और धवन ने दो-दो विकेट हासिल किए।
पंजाब की अंतिम एकादश में वापसी करने वाले मिलर ने अंत में 20 गेंद में दो चौके से नाबाद 29 जबकि कप्तान बेली ने 18 गेंद में एक चौके और एक छक्के से नाबाद 26 रन जोड़े। इन दोनों ने 19वें ओवर में दो छक्के और एक चौके से 23 रन जुटाए और पांचवें विकेट के लिए 5-2 ओवर में नाबाद 60 रन की भागीदारी निभाई। सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने टीम को आक्रामक शुरुआत कराने के लिए पहले ओवर में दो चौके और एक छक्के से 15 रन जोड़े।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.