नई दिल्ली|  सपा के दोनों गुटों में चल रही उठापटक आज भी जारी रही। अखिलेश यादव गुट के रामगोपाल और मुलायम गुट के खुद मुलायम सिंह यादव चुनाव आयोग के सामने साइकिल पर अपना अपना दावा ठोंक आए हैं। मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी ने बुधवार को कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) के चुनाव चिन्ह ‘साइकिल’ की संभावित जब्ती से संबंधित कोई भी सवाल ‘काल्पनिक’ है और इस बारे में कोई भी फैसला लेने से पहले निर्वाचन आयोग मुद्दे पर विचार करेगा।                                                                                                साइकिल’ को जब्त करने से संबंधित कोई भी सवाल फिलहाल काल्पनिक है

जैदी ने संवाददाताओं से कहा, “सपा के चुनाव चिन्ह ‘साइकिल’ को जब्त करने से संबंधित कोई भी सवाल फिलहाल काल्पनिक है।”सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव तथा उनके बेटे व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व वाले गुटों द्वारा चुनाव चिन्ह ‘साइकिल’ पर किए गए दावे की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, “पहले दोनों गुटों द्वारा सौंपे गए दस्तावेजों की जांच करते हैं।”

दोनों गुटों ने पार्टी के चुनाव चिन्ह पर अपना दावा पेश किया                                                         उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ पार्टी के दोनों गुटों ने पार्टी के चुनाव चिन्ह को लेकर अपना दावा निर्वाचन आयोग के समक्ष पेश किया है। दोनों ही गुटों ने दावा किया है कि वे ‘असली’ समाजवादी पार्टी हैं।सपा संस्थापक मुलायम सिंह ने सोमवार को जैदी से मुलाकात की, जबकि अखिलेश यादव के सबसे करीबी विश्वस्त राम गोपाल यादव ने मंगलवार को निर्वाचन आयुक्त से मुलाकात की। दोनों गुटों ने पार्टी के चुनाव चिन्ह पर अपना दावा पेश किया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.