1लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी द्वारा बुन्देलखण्ड की धरती से परिवर्तन का शंखनाद करने वाली प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की परितर्वन महारैली का जायजा लेने महोबा पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी। प्रदेश प्रभारी ओम प्रकाश माथुर एवं प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य 24 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महोबा में होने वाली परिवर्तन महारैली की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे।

प्रदेश प्रवक्ता चन्द्रमोहन ने बताया कि महोबा में छतरपुर रोड पर होने वाली परिवर्तन महारैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए पार्टी कार्यकर्ता जी जान से जुटे हुए है। महारैली स्थल पर तैयारियों की समीक्षा और कमियों पर दिशानिर्देश देने पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी का भाजपा कार्यकर्ताओं ने गर्म-जोशी से स्वागत कर ‘‘अबकी बार-तीन सौ के पार’’ नारा लगाया। अवैध खनन, गुण्डागर्दी, बलात्कार, भय और भ्रष्टाचार के रूप में प्रदेश की छवि बिगाड़ने वाली सपा-बसपाई का सबसे ज्यादा योगदान रहा।

व्यवस्था में परिवर्तन का शंखनाद करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की परिवर्तन महारैली का जायजा लेने पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने महारैली की तैयारियों को संतोषजनक बताते हुए कहा कि प्रदेश की जनता और खास कर युवाओं ने जिस विश्वास के साथ सपा की सरकार बनाई थी, अखिलेश सरकार ने उस विश्वास को तोड़ दिया है। हमें विश्वास है कि प्रदेश की जनता 2017 में सपा का खेल पूरी तरह खत्म कर देगी। यूपी में सपा व कांग्रेस से मुक्त होने वाला है।

प्रदेश प्रवक्ता चन्द्रमोहन ने बताया कि राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रभारी ओम प्रकाश माथुर एवं प्रदेश अध्रूक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने महारैली स्थल का जायजा लेने के बाद पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ बैठक की जिसमें रैली की तैयारियों की समीक्षा के साथ आवश्यक निर्देश भी दिये। प्रदेश महामंत्री स्वतंत्रदेव सिंह पहले ही रैली की सफलता के लिए महोबा में डेरा डाले हुए है।

बैठक में सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चन्देल, सांसद भैरो प्रसाद मिश्रा, सांसद भानु प्रताप वर्मा, क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह, जिलाध्यक्ष महोबा जितेन्द्र सिंह सेंगर के साथ बुन्देलखण्ड के आठो जिलो के जिलाध्यक्ष, जिला प्रभारी, क्षेत्रीय मंत्री बृजेश तिवारी आदि उपस्थित रहें।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.