bjp-leadersनई दिल्ली। अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी पूरे प्रदेश में होने जा रही है। भारतीय जनता पार्टी की विशाल परिवर्तन यात्रा से पार्टी को मुख्यमंत्री पद के लिए चेहरा चुनने में मदद मिल सकती है। पार्टी सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री के रूप में किसे पेश किया जाना है। अब यह फैसला पार्टी का संसदीय बोर्ड करेगा, लेकिन यह परिवर्तन यात्रा राह दिखाने का काम करेगी। सूत्रों ने कहा कि इससे पार्टी को अंतिम फैसला लेने में सहायता मिलेगी।
 
परिवर्तन यात्रा अगले महीने नवंबर में शुरआत होने को है। राज्य के चार अलग-अलग जगहों से शुरू होगी। और इसके माध्यम से देश के सबसे बड़े राज्य के सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में यात्रा होगा। बीजेपी पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि नियंत्रण रेखा के पार जाकर भारतीय सैनिकों द्वारा पीओके में किया गया सर्जिकल स्ट्राइक भी उन मुद्दों में शामिल होगा। जो इस परिवर्तन यात्रा के दौरान उठाए जाएंगे।

उन्होंने कहा, कि कैसे संभव है कि बीजेपी सेना की बहादुरी की चर्चा न करे, जबकि यह फैसला एनडीए सरकार ने ही लिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस मुद्दे के बारे में बोलने के खिलाफ चेतावनी भी दी थी। उसके बावजूद पार्टी की राज्य इकाई ने दशहरा उत्सव के दौरान पीएम की लखनऊ यात्रा पर सर्जिकल स्ट्राइक का ज़िक्र जोरशोर से किया था। पीएम मोदी उस दिन की रैली में जिस मैदान पर आयोजित की गई थी।

पीएम मोदी के आने पर शहर में लगे पोस्टरों पर लिखा था, उरी का बदला लेने वालों का लखनऊ स्वागत करता है। इसके अलावा इस परिवर्तन यात्रा के दौरान जन धन योजना, कृषि बीमा, सबको बिजली तथा गरीबी रेखा से नीचे रहने वालों को एलपीजी जैसी उन योजनाओं पर जनता की राय भी ली जाएगी। जो मोदी सरकार ने शुरू की हैं।

अगले महीने से शुरू परिवर्तन यात्रा
इन यात्राओं को सहारनपुर, ललितपुर, बलिया तथा सोनभद्र से 5, 6, 8 और 9 नवंबर को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, पार्टी के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र व पार्टी की राज्य इकाई के प्रमुख केशव प्रसाद मौर्य हरी झंडी दिखाई जाएंगे. पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि वे सांसद और विधायक भी यात्रा में भाग लेंगे, जिनके चुनाव क्षेत्र यात्रा के रास्ते में आएंगे।

सूत्रों के अनुसार, ये यात्राएं पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता तथा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन 25 दिसंबर को लखनऊ में समाप्त होंगी, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक जनसभा को संबोधित करने की संभावना है। जनता से जुड़ने के लिए आयोजित की जा रही इस कवायद में युवा, आदिवासी तथा महिला कॉन्फ्रेंस भी आयोजित की जाएंगी – गृहमंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र पंकज सिंह युवाओं को इससे जोड़ने की ज़िम्मेदारी संभालेंगे।

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने राज्य में शानदार प्रदर्शन करते हुए कुल 80 में से 71 सीटों पर जीत हासिल की थी। हालांकि इसके बाद हुए उपचुनाव में उन्हें झटका लगा था, लेकिन अब पार्टी का आकलन है कि उत्तर प्रदेश में सत्ता हासिल करने की कोशिश करने का यह कतई सही समय है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.