उत्तर प्रदेश के लखीमपुर जिले में किसान द्वारा मंडी में अपनी फसल को जलाने के मामले में भारतीय जनता पार्टी के पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी ने राज्य की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. फिलहाल बीजेपी सांसद किसानों के मुद्दे पर लंबे समय से लगातार यूपी की योगी सरकार पर निशाना साध रहे हैं और नसीहत दे रहे हैं. वहीं वरूण गांधी ने एक बार फिर राज्य सरकार को पत्र लिखकर सवाल उटाए हैं.
असल में वरूण गांधी की ट्वीट कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के बाद आया है और दोनों ने ही किसानों के मुद्दे पर राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर सवाल उठाए हैं. शनिवार को भी वरुण गांधी ने यूपी में धान फसल को लेकर मंडियों में किसानों की उपेक्षा से जुड़े मुद्दे पर ट्वीट किया है. जिसको लेकर बीजेपी सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है.क्योंकि वरूण गांधी बीजेपी सांसद हैं और अपनी ही सरकार पर सवाल कर रहे हैं.
शनिवार को वरुण गांधी ने एक किसान का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘”उत्तर प्रदेश के किसान श्री समोध सिंह पिछले 15 दिनों से अपनी धान की फसल को बेचने के लिए मंडियों में मारे-मारे फिर रहे थे, जब धान बिका नहीं तो निराश होकर इसमें स्वयं आग लगा दी.इस व्यवस्था ने किसानों को कहाँ लाकर खड़ा कर दिया है? कृषि नीति पर पुनर्चिंतन आज की सबसे बड़ी ज़रूरत है.” पिछले दिनों ही वरूण गांधी तीन कृषि कानूनों को लेकर मुखर हैं. क्योंकि पीलीभीत तराई का क्षेत्र है और जहां किसान काफी निर्णायक हैं.

वरूण गांधी ने कृषि कानूनों पर पुनर्विचार करने को कहा
वहीं बीजेपी सांसद वरूण गांधी ने अपने ट्वीट में कृषि नीति पर पुनर्विचार करने की जरूरत पर जोर दिया है और लिखा है कि अगर ऐसी व्यवस्था है जिसमें किसान अपनी फसलों को आग लगाने के लिए मजबूर हैं तो फिर ऐसी नीति पर फिर से सोचने की जरूरत है.
लखीमपुर खीरी हिंसा पर भी उठा चुके हैं सवाल
इससे पहले वरूण गांधी लखीमपुर में हुई हिंसक घटना पर भी सवाल उठा चुके हैं. उन्होंने उस वक्त की कई ट्वीट कर राज्य सरकार पर परोक्ष तौर पर निशाना साधा था और उस वक्त भी कृषि कानूनों को लेकर सवाल उठाए थे. वरूण गांधी ने इस मामले में योगी सरकार से दोषी को सजा दिलाने की मांग की थी. दरअसल वरुण गांधी ने परोक्ष तौर पर सरकार की कृषि नीतियों का विरोध किया है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.