लखनऊ। रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनाये जाने के बाद कोविंद ने बिहार के राज्यपाल पद से इस्तीफा दे दिया था। उसके अब खबर आ रही है कि यूपी के ही एक बड़े नेता को बिहार के राज्यपाल की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। वर्तमान में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के पास बिहार की अतिरिक्त जिम्मेदारी है।
राष्‍ट्रपति चुनाव में क्रास वोटिंग करने वाले शिवपाल यादव ने कहा था कि ऐसा उन्‍होंने नेताजी यानी मुलायम सिंह यादव के कहने पर किया था। शिवपाल ने दावा तो यहां तक किया था कि दो दर्जन से अधिक सपा विधायकों ने क्रास वोटिंग की है। क्रास वोटिंग की सौदेबाजी के बीच खबर यह आ रही है कि मुलायम सिंह यादव इसकी पूरी कीमत वसूलने के मूड में है। मोदी सरकार इसके एवज में मुलायम सिंह यादव को बिहार का राजभवन यानी राज्‍यपाल पद सौंप सकते हैं।
खबर के मुताबिक मुलायम सिंह यादव के नाम को लेकर चर्चा शुरू गई है कि उन्हें बिहार के राज्यपाल की जिम्मेदारी दी जा सकती है। सूत्रों के अनुसार, मुलायम सिंह यादव द्वारा राष्ट्रपति चुनाव में दिए समर्थन के बाद भाजपा सरकार उन्हें बिहार का राज्यपाल नियुक्त कर सकती है। पहले प्रधानमंत्री फिर राष्‍ट्रपति और अब उपराष्‍ट्रपति बनने के सपने देखने वाले मुलायम सिंह यादव भागते भूत की लंगोटी हासिल करना चाहते हैं। शिवपाल भाजपा की शरण में आकर मुलायम के लिए जमीन तैयार कर चुके हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.