amar-mulayam

समाजवादी पार्टी में चल रहे अंदरूनी घमासान के बीच सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने फिर एक फैसला अपने CM बेटे के खिलाफ लिया है! मुलायम सिंह यादव ने अमर सिंह को पार्टी का महासचिव नियुक्त किया है। मुलायम ने कई सालों बाद खुद से लेटर लिखकर अमर सिंह को इस पद के लिए न्यौता दिया है। जबकि इससे पहले अखिलेश यादव ने अमर सिंह पर निशाना साधते हुए कहा था कि बाहर वालों को बाहर करना होगा ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करनी होगी।

इसके बाद ही मुलायम सिंह ने अमर सिंह के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय उन को राष्ट्रीय महासचिव नियुक्त करके अखिलेश गुट को झटका दिया है। शिवपाल यादव ने भी रामगोपाल यादव और अखिलेश यादव के नजदीकी लोगों पर कार्रवाई की थी।

इससे पहले ये खबरें आ रही थीं कि यूपी के सीएम अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल यादव के बीच जारी सियासी उठापटक के पीछे अमर सिंह हैं। अखिलेश यादव के परिवार में बाहरी व्यक्ति के कारण कलह संबंधी बयान से भी इन अटकलों को बल मिला था कि अमर सिंह पर जल्द ही कार्रवाई होगी।

नौबत यहां तक आ गई थी कि जब मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश की जगह शिवापल यादव को प्रदेश अध्यक्ष बनाया तो इसके रिएक्शन में अखिलेश ने शिवपाल से लोक निर्माण, राजस्व तथा सहकारिता जैसे महत्वपूर्ण विभाग वापस ले लिए थे। उसके बाद शिवपाल ने रात को मंत्री पद के साथ-साथ सपा के प्रदेश अध्यक्ष के पद से भी इस्तीफा दे दिया था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.