मुलायम सिंह यादव बार-बार अपने बयानों से पलट रहे हैं। सोमवार को एक बार फिर उन्होंने अपना बयान देते हुए कहा कि परिवार में कोई विवाद नहीं है और वे कल से ही बेटे अखिलेश के लिए चुनाव प्रचार शुरू करेंगे। बता दें कि 29 जनवरी के बाद यह चौथी बार है जब मुलायम ने प्रचार के बारे में अलग बयान दिया है। तीन दिन पहले ही उन्होंने कहा था कि वे पहले शिवपाल और उसके बाद अखिलेश के लिए प्रचार करेंगे। बता दें कि यूपी में 11 फरवरी से 7 फेज की वोटिंग शुरू होने जा रही है।

सोमवार को संसद परिसर में मीडिया ने अमर सिंह के बारे में जब मुलायम से सवाल किए तो उन्होंने कहा, ”अमर सिंह नाराज नहीं हैं। कोई मतभेद नहीं है। वहीं, शिवपाल के नाराज होने के सवाल पर मुलायम ने कहा कि, ”शिवपाल नाराज नहीं हैं। कौन है नाराज? कोई भी नहीं है।”

इससे पहले कब-कब बदला बयान
बता दें, इससे पहले 3 फरवरी को मुलायम ने कहा था, मैं 9 फरवरी से जसवंतनगर से शिवपाल के लिए चुनाव प्रचार शुरू करूंगा, अखिलेश के लिए बाद में प्रचार करूंगा। उससे पहले 29 जनवरी को मुलायम ने सपा-कांग्रेस अलायंस के लिए चुनाव प्रचार करने से साफ इनकार कर दिया था। लेकिन फिर 1 फरवरी को दिल्‍ली में मुलायम से जब मीडिया ने पूछा कि क्‍या सपा-कांग्रेस के कैंडिडेट्स के साथ उनका आशीर्वाद है तो इस पर उन्‍होंने कहा था- ”हां बिल्‍कुल।”

11 मार्च के बाद नई पार्टी बनाएंगे शिवपाल
वहीं, शिवपाल यादव ने 31 जनवरी को इटावा में जनसभा के दौरान कहा था कि वे 11 मार्च के बाद नई पार्टी बनाएंगे। उन्‍होंने आगे कहा था, “हमने पर्चा भर दिया है। आज हम जो भी हैं, नेताजी के वजह से हैं। बहुत से लोगों ने कहा कि वे जो कुछ हैं नेताजी के वजह से हैं और उन्‍हीं लोगों ने नेताजी को अपमानित करने का काम किया।

गठबंधन के खिलाफ थे मुलायम
29 जनवरी को राहुल-अखिलेश की ज्‍वांइट प्रेस कॉन्‍फ्रेंस और रोड शो के बाद मुलायम ने एक न्‍यूज एजेंसी से बातचीत की थी। उस दौरान मुलायम ने कहा था, “मैं इस समझौते के खिलाफ हूं। मैं कैम्पेन में भी हिस्सा नहीं लूंगा। मैं कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि वो अलायंस के खिलाफ खड़े हों और जनता तक अपनी बात पहुंचाएं। सपा को इस अलायंस की जरूरत ही नहीं थी।”

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.