akhileshलखनऊ। सीएम अखिलेश यादव राजनीति के तमाम दांव उन्होंने अपने पिता से ही सीखे हैं। लेकिन सत्ता के शीर्ष पर होते हुए भी मुलायम अखिलेश पर भारी पड़ रहे हैं। अखिलेश ने जो दांव मुलायम सिंह यादव के साथ खेला, अब उसी दांव से मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश को पशोपेश में डाल दिया है। मुलायम सिंह ने कहा, ये तुम्हारे चाचा है। इसके बाद अखिलेश गए तो चाचा शिवपाल के गले लगने लेकिन अचानक ही दोनों में हाथापाई की नौबत आ गई जिसके बाद बीच बचाव कर दोनों को अलग किया गया।

सोमवार को बैठक में पार्टी न तोड़ने की बात कहकर अखिलेश ने अपना ट्रंप खेला और पार्टी और नेताजी के प्रति षड्यंत्रों का हवाला देकर अपनी प्रतिबद्धता भी दोहराई। इससे पार्टी को तोड़ने के आरोपों को अखिलेश ने खत्म कर दिया और एक भावुक बेटे के उद्गारों का लेकिन पिता मुलायम सिंह को पर इसका कोई असर नहीं पड़ा।

इससे पहले शिवपाल ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर हमले बोलते हुए कहा कि मैं गांव-गांव साइकिल से गया हूं। मैंने नेताजी मुलायम की बात मानी है। उन्होनें यह भी कहा कि मैने मुख्यमंत्री अखिलेश की हर एक बात मानी है। बैठक में शिवपाल ने कहा कि, मैं कसम खा कर कहता हूं कि अखिलेश ने कहा था कि मैं अलग से पार्टी बनाउंगा।

अमर सिंह की तारीफ
प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह ने कहा कि 2003 में अमर सिंह के साथ होने से पार्टी बनी। आज कई ऐसे नेता पार्टी में है जो उनके धूल के बराबर भी नहीं है। बैठक में उन्होनें नेताजी को सीएम बनने की बात रखी है।

इससे पहले रविवार को हुई बैठक में भावुक हुए मुख्यमंत्री अखिलेश ने पिता से कहा कि मैं आपके आशीर्वाद से प्रदेश का मुख्यमंत्री बना, अलग पार्टी क्यों बनाऊंगा। अखिलेश भावुक होकर कहे कि आप मेरे पिता व गुरू है। आप जैसा कहेंगे वैसा ही होगा।

रविवार का दिन समाजवादी पार्टी के लिए भारी उठापटक और हंगामे से भरा रहा। बैठक में एक के बाद एक बड़े फैसले लिए गए। बर्खास्तगी और निष्कासन का दौर चलता रहा। आज का दिन भी हंगामेदार रहने के पूरा उम्मीद है। रविवार के दिन चुप्पी साधे रहे सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को बड़ी बैठक बुलाई है। अखिलेश यादव ने इस्तीफे का पेशकश की।

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी में पिता-पुत्र की ‘जंग’ में आज का दिन बड़ा अहम साबित हो सकता है। अखिलेश के ऐक्शन लेने के बाद आज मुलायम कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। तो वहीं मुख्यमंत्री के चाचा शिवपाल सिंह का कहना है कि जिनको भी पार्टी से निकाले गया, वे सभी भ्रष्ट मंत्री है। उन्होनें कहा कि मैंने पार्टी के लिए बहुत संघर्ष किया है।

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.