keshav-mauryaभारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य सांसद ने खननमंत्री गायत्री प्रजापति की मंत्रिपद से बर्खास्तगी के नाटक पर कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने आपको बचाने के लिए गायत्री प्रजापति की बर्खास्तगी का नाटक किया है। समाजवादी पार्टी की सरकार का हाल है कि सौ-सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली। मौर्य ने प्रश्न किया कि यदि अखिलेश यादव भ्रष्टाचार के खिलाफ है तो वह मा. उच्चन्यायालय द्वारा अवैध में हुए भ्रष्टाचार खनन की सीबीआई जांच के आदेश को रोकने के लिए सर्वोच्च न्यायालय क्यों गये ? अखिलेश यादव खनन घोटाले में गायत्री प्रजापति द्वारा किये गये भ्रष्टाचार से बच नहीं सकते है। खनन के क्षेत्र में 3 लाख करोड़ का भ्रष्टाचार एवं राजस्व की क्षति हुई है उसके लिए जिम्मेदार एवम् मुख्यमंत्री है।

अखिलेश यादव अपनी जिम्मेदारियों से बच नहीं सकते
मौर्य ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि सीबीआई जांच में प्रदेश के अंदर व्याप्त भ्रष्टाचार का खुलासा होगा और 2017 में प्रदेश में बनने वाली भाजपा सरकार के द्वारा उत्तर प्रदेश भ्रष्टाचार से मुक्त होगा। मौर्य ने प्रदेश सरकार में मंत्री राज किशोर सिंह की बर्खास्तगी का जिक्र करते हुए कहा कि गायत्री प्रसाद प्रजापति और राजकिशोर सिंह की बर्खास्तगी से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपनी जिम्मेदारियों से बच नहीं सकते। नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री को इस्तीफा देना चाहिए, और यदि मुख्यमंत्री जी इस्तीफा नहीं देते तो यह स्पष्ट है कि प्रत्येक भ्रष्टाचारी एवं अपराधी को मुख्यमंत्री जी का संरक्षण प्राप्त है।

सपाई गुण्डों के विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं होती
केन्द्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल तथा विधायक आरके वर्मा के काफिले पर हुए हमले पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ और रिपोर्ट छः घण्टे बाद लिखी जाती है उस पर भी हमलावरों के खिलाफ अब तक कोई कार्यवाही नही। आज मुजफ्फरनगर में भाजपा विधायक कपिल देव जी पर हमला हुआ। दो दिन पूर्व अलीगढ़ में समाजवादी छात्र सभा के लोगों द्वारा लेज परिसर में घुसकर छात्राओं से छेड़छाड़ की जाती है। छात्राओं को पत्र लिखकर मुख्यमंत्री से सुरक्षा की गुहार लगानी पड़ती है और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी एसएसपी को स्थानांतरण करके अपने दायित्व की इति कर देते है लेकिन सपाई गुण्डों के विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं होती है।

प्रदेश की कानून व्यवस्था को रेखांकित करते हुए मौर्य ने कहा कि प्रदेश में पूरी तरह से अराजकता है, कानून व्यवस्था ध्वस्त है, आम नागरिक स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रहा है। प्रदेश में महिलाओं के विरूद्ध अपराध के मामलो ने पिछले सारे रिकार्ड ध्वस्त कर दिये है। अखिलेश यादव जी के पास गृह मंत्रालय भी है, इसलिए उत्तर प्रदेश में एक-एक अपराध के लिए अखिलेश यादव जिम्मेदार है। भारतीय जनता पार्टी भ्रष्टाचार, अपराध, भूमाफियाओं को संरक्षण और उत्तर प्रदेश में फैली अराजकता के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से तत्काल इस्तीफे की मांग करती है।

बहिन जी ने आजम खान के विरूद्ध बयान देना भी वाजिब नहीं समझा
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने बसपा सुप्रीमों मायावती से पूछा कि मुख्य विपक्षी दल का जनादेश पाने के साढ़े चार साल बाद भी बहिन जी न तो जनता के बीच गई है, चुनाव निकट आते ही रैली के माध्यम से चार बार की मुख्यमंत्री जी ऐसे डाक्टर की तरह इलाज करना चाहती है जो पेट में दर्द का इलाज के लिए सिर का इलाज कर रही है। दोषी अखिलेश यादव और सपा सरकार है हिसाब नरेन्द्र मोदी से मांग रही है। बाबा साहेब का अपमान उनके भतीजे के मंत्रीमण्डल के वरिष्ठ सदस्य आजम खान ने किया और जब तक भारतीय जनता पार्टी ने बाबा साहेब के अपमान के विरोध में सड़कों पर नहीं उतरी तब तक बहिन जी ने आजम खान के विरुद्ध बयान देना भी वाजिब नहीं समझा।

बसपा के नेता और कार्यकर्ता बसपा की तुष्टीकरण की राजनीति से गुस्से में है। बहिन जी का आचरण दलित विरोधी है। बसपा नेताओं ने मुझे बताया कि बहिन जी का मानना है कि दलितों का जितना उत्पीड़न होगा, बसपा का वोट उतना ही पक्का होगा। मौर्य ने कहा कि ऐसी राजनीति को मैं धिक्कारता हॅू जिसमें भय के बल पर बहिन जी ने राजनीति मुकाम पाया। सपा से मिलकर दलितों का उत्पीड़न कराने में मैं बहिन मायावती को जिम्मेदार मानता हॅू। बसपा को 2017 से बुरी स्थिति का सामना करना पड़ेगा। बसपा की असफल रैलियों किराये की भीड़ से उत्साहहीन है।

मौर्य ने राहुल गांधी की खाट पंचायत पर बोलते हुए कहा कि खाट पंचायत में आने वाले लोगों की यदि यह न बताया जाये कि जिस खाट पर बैठकर आप राहुल गांधी को सुनेंगे वह खाट आपकी हो जाएगी तो लोग राहुल गांधी की खाट पंचायत में जाने को भी तैयार नहीं। 10 वर्ष सपा-बसपा के समर्थन से कांग्रेस की सरकार चली, जिसमें 12 लाख करोड़ का घोटाला हुआ था, जिस घोटाले की कीमत राहुल गांधी उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा की मदद करने के लिए वोट कटवा के रूप में अदा करने के लिए आए है कांग्रेस के युवराज और उनकी माँ अमेठी और रायबरेली से तभी जीत पाये जब समाजवादी पार्टी ने उनके विरुद्ध कोई उम्मीदवार नहीं उतरा। राहुल गांधी उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा का अहसान चुकाने आये है। भाजपा उत्तर प्रदेश में 2014 को 2017 में दोहरायेगी और 300 से अधिक सीटें जीतेंगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.