keshav-maurya

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने अखिलेश यादव द्वारा गायत्री प्रसाद प्रजापित को पुनः मंत्रिमंडल में लिये जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आज कहा कि प्रदेश की समाजवादी सरकार ने भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों में घिरे गायत्री प्रसाद प्रजापति की मंत्रिमंडल में वापसी भ्रष्टाचार को खुलेआम स्वीकृति प्रदान करना है। उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति के विरुद्ध मा. उच्चन्यायाल द्वारा सीबीआई जांच के आदेश किये गये उसको पुनः मंत्री पद नवाजना भ्रष्टाचार को मजबूती प्रदान करना है।

मौर्य ने कहा कि भाजपा बहुत पहले से आरोप लगाती आई है कि अखिलेश यादव सरकार भ्रष्टाचार और अपराध को संरक्षण प्रदान कर रही है, मंत्रिमंडल में गायत्री प्रजापति की वापसी से भारतीय जनता पार्टी द्वारा सरकार पर लगाये गये आरोप प्रमाणित हो गये है।

अपराध पर कोई नियत्रंण सम्भव नहीं हो सका
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि लगातार साढ़े चार वर्षो से सरकार के अन्दर कई शक्ति केन्द्रों की बात चर्चा में रही है। जिसके कारण प्रदेश का विकास अवरुद्ध रहा, भ्रष्टाचार और अपराध पर कोई नियत्रंण सम्भव नहीं हो सका। प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा अनेक बार दी गयी नसीहते न तो प्रदेश के पुलिस प्रशासन के अमल में आ सकी और न ही शासनतंत्र की कार्यशैली में कोई र्निणायक और प्रभावी परिवर्तन हो सका। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव के आठवें मंत्री मण्डल विस्तार में उन्हीं द्वारा बाहर किये गये तीन मंत्रियों की शपथ ने पुनः सरकार के कई शक्ति केन्द्रों की चर्चा को प्रमाणित कर दिया है।

माफियाओं को खुलेआम संरक्षण प्राप्त
मौर्य ने अखिलेश सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि मंत्री मण्डल विस्तार से जहां एक तरफ भ्रष्टाचार को खुली स्वीकृत मिली है वहीं दूसरी तरफ खनन माफियाओं, जमीनों पर अवैध कब्जों, भ्रष्टाचार तथा अपराध में लिप्त ऐसे तत्वों को भी खुलेआम संरक्षण प्राप्त हुआ है। जो अभी तक सरकार के शक्ति केन्द्रों से संरक्षण प्राप्त कर खनन लूट और जमीनों पर अवैध कब्जों को अंजाम दे रहे थे। तथा किसानों, गरीबों और बेरोजगारों का हक मारकर अपनी तिजोरी भर रहे थे।

भाजपा अध्यक्ष ने मंत्री मण्डल विस्तार में जिस तरह से जातीय और एक वर्ग विशेष को खुश करने की कवायद की गई है पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इन दलों की कथनी-करनी में जमीन आसमान का अंतर है और जनता सच जानती है। श्री मौर्य ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रदेश की जनता ने जातिवाद की राजनीति करने वाले सपा, बसपा तथा कांग्रेस को उनका स्थान बता दिया था और पुनः 2017 में जाति और वर्ग के वोटो की गुणा-गणित करने वाले इन दलों को जातिवादी राजनीति का कड़ा जबाब देगी और सबका साथ-सबका विकास के संकल्प को साकार करने की दिशा में तेजी से कार्य कर रही भारतीय जनता पार्टी के साथ खड़ी होगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.