barabanki-sp1बाराबंकी। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी में जारी अंतर्कलह कम होने का नाम ही नहीं ले रहा अब तो पार्टी से जुड़े अन्य नेता भी खुलकर दो गुटों में सामने आने लगे हैं। अखिलेश और शिवपाल के गुट अब भिड़ने लगे हैं। ऐसा ही एक मामला शनिवार को बाराबंकी में सामने आया। पार्टी के अंदर अब स्थिति ये हो गई है कि पार्टी के अपने ही कार्यकर्ता सपा के आलाकमान के खिलाफ खड़े हो गए हैं। सपा कार्यकर्ताओं ने अपने ही विधायकों और मंत्रियों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उन्हें भ्रष्टाचारी करार दिया है।

अपने ही मंत्रियों और विधायकों के खिलाफ मोर्चा
वरिष्ठ समाजवादी नेता और पूर्व विधायक सरवर अली खान ने विधानसभा कुर्सी से बाराबंकी मुख्यालय तक समाजवादी संदेश यात्रा निकाली। कार्यकर्ताओं के हुजूम के साथ ये यात्रा निकली तो थी सरकार के काम-काज को जनता को बताने के उद्देश्य से, लेकिन बीच रास्ते में ही यात्रा की अगुवाई कर रहे पूर्व विधायक ने अपने ही मंत्रियों और विधायकों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।

पूर्व विधायक ने कहा कि इस समय पूरा जिला भ्रष्टाचार में आकंठ डूबा हुआ है और जिले के मंत्री और विधायक उनकों संरक्षण देने का काम कर रहे हैं। बड़ी ही आशा के साथ जिले के लोगों ने इनको वोट देकर चुनने का काम किया था, मगर इन लोगों ने भ्रष्ट अधिकारियों के साथ मिलकर पूरे जिले को लूट-खसोट का अड्डा बना कर रख दिया है। मंत्री का नाम पूछने पर पूर्व विधायक ने कहा कि पूरे जिले का एक सा हाल है। इसको अब कोटेदार, ठेकेदार और थानेदार ही नजर आ रहे हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.