उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं और इससे पहले राज्य की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी राज्य में ऑपरेशन लोटस शुरू करने की तैयारी में है. बीजेपी राज्य में विपक्षी दलों के 100 नेताओं को टारगेट कर रही है. बीजेपी की रणनीति के तहत समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस समेत अन्य दलों के 100 नेताओं को पार्टी में शामिल कराया जाएगा. बीजेपी उन नेताओं को टारगेट कर रही है. जो अपने आलाकमान से नाराज है और जातिगत स्तर पर जिन नेताओं का दबदबा है.
दरअसल, बीजेपी बुधवार को लखनऊ एसपी के विधान परिषद सदस्यों में सेंध लगाई और एक ही झटके में चार सदस्यों को तोड़कर अखिलेश यादव को बड़ा झटका दिया है. जबकि अखिलेश यादव पिछले दिनों बीजेपी एक एमएलए को अपनी पार्टी में शामिल कर चुके हैं. यहीं अभी तक ज्यादातर नेता समाजवादी पार्टी में शामिल हो रहे हैं. बताया जा रहा है कि बीजेपी ने यूपी में एसपी, बीएसपी और कांग्रेस समेत अन्य दलों के 100 नेताओं पार्टी में शामिल करने की तैयारी की है और शुरुआती दौर में इन लोगों से मध्यस्थतों के जरिए बातचीत भी हो चुकी है. चर्चा है कि राज्य बीजेपी ने इन नेताओं की एक लिस्ट बीजेपी आलाकमान को भी सौंप दी है और वहां से इस पर मुहर भी लगा दी गई है. लिहाजा कर्नाटक और मध्य प्रदेश की तर्ज पर एसपी, बीएसपी और कांग्रेस के बड़े नेताओं को जल्द ही पार्टी में शामिल किया जाएगा.
बीजेपी नेता का दावा
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यूपी बीजेपी के ज्वाइनिंग कमेटी मेंबर और प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने इस बात की पुष्टि की है कि राज्य में कई नेता बीजेपी के संपर्क में है और जल्द ही ये नेता बीजेपी में शामिल होंगे. उनका कहना है कि विभिन्न दलों के कई विधायक, एमएलसी, पूर्व मंत्री, पूर्व विधायक और विपक्ष के मजबूत बीजेपी का दामन थामेंगे और विधानसभा चुनाव की जीत के लिए राह आसान करेंगे.
नेताओं को एसपी में शामिल करा कर अखिलेश दे रहे हैं संदेश
दरअसल, राज्य में बीजेपी विभिन्न दलों के नेताओं को पार्टी में इसलिए शामिल करना चाहती है. ताकि ये संदेश जाए कि बीजेपी के पक्ष में माहौल है. हालांकि एसपी प्रमुख अखिलेश यादव इस फार्मूले को लागू कर चुके हैं. वह राज्य में छोटे दलों से गठबंधन कर रहे हैं और विभिन्न दलों के नेताओं को पार्टी में शामिल करा रहे हैं. इसके लिए अखिलेश यादव ये संदेश देने की कोशिश कर रहे हैं राज्य में एसपी के पक्ष में माहौल है और राज्य में अगली सरकार एसपी की बनने जा रही है. वहीं अभी तक बीएसपी और कांग्रेस के ज्यादातर नेता एसपी में शामिल हुए हैं.
बुधवार को ही एसपी में बीजेपी ने लगाई है सेंध
दरअसल बुधवार को ही बीजेपी ने एसपी के चार एमएलसी को पार्टी में शामिल कराया है. ये एसपी के लिए बड़ा झटका मना जा रहा है. क्योंकि इससे एसपी की विधान परिषद में ताकत कम होगी. बुधवार को विधान परिषद सदस्य नरेंद्र भाटी, रमा निरंजन, सीपी चंद और रविशंकर सिंह बीजेपी में शामिल हो गए थे. वहीं चर्चा है कि बीजेपी में शामिल होने के लिए एसपी के दस एमएलसी तैयार थे. लेकिन बीजेपी की तरफ से उन्हें को आश्वासन नहीं मिला. जिसके कारण उन्होंने बीजेपी में आने का इरादा बदल दिया.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.