keshav-prasad-mauryaलखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने आज प्रदेश सरकार के मुखिया अखिलेश यादव के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कड़ा जबाब दिया है। प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य कहा कि मुख्यमंत्री का कथन ‘सपा सरकार ने सड़क, स्वास्थ्य तथा शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा कार्य किया है’ तथ्यों से परे है। उन्होंने ने कहा कि पूरे प्रदेश में डेंगू और चिकनगुनिया महामारी का रूप ले चुकी है।

बेहोश पड़ी स्वास्थ सेवाओं की दुरूस्त करने के कोई उपाय नहीं
सैकड़ों लोगों की जिन्दगियां जा चुकी है परन्तु सरकार सो रही है डेगूं तथा चिकनगुनिया जैसे रोगों से बचाव के उपाय नहीं किये गये तथा पीड़ित व्यक्तियों के लिए अस्पतालों ने तो कोई समुचित चिकित्सा व्यवस्था है न ही बेहोश पड़ी स्वास्थ सेवाओं की दुरूस्त करने के कोई उपाय। शिक्षा व्यवस्था की हालात से मुख्यमंत्री महोदय स्वयं द्वारा गोद लिए गांव के प्राथमिक विद्यालय में जब गये थे तो उन बच्चों को जो मुख्यमंत्री द्वारा गोद लिया गांव है उस प्राथमिक विद्यालय के बच्चों को अक्षर ज्ञान तक नहीं दिखा और अगर आप सड़कों की हालात का जायजा ले तो स्वतः उन्हें प्रदेश की सड़कों की हालात (यदि आप राष्ट्रीय राजमार्गो को छोड़ दें) तो सपा सरकार के खोखले विकास कार्यो की वास्तविकता सामने आ जायेगी।

मौर्य ने ‘मुख्यमंत्री के वक्तव्य भाजपा ने लखनऊ, कानपुर तथा रामपुर में क्या विकास कार्य किया?’ टिप्पणी करते हुए कहा कि प्रदेश के मुखिया जानबूझकर भाजपा की केन्द्र सरकार द्वारा किये जा रहे विकास कार्यो को झुठला रहे है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी की जानकारी के लिए लखनऊ-कानपुर में पिछले दो वर्ष में किये गये कार्यो का ही लेखा जोखा हजारों करोड़ में है।

मेट्रो परियोजना में केन्द्र सरकार और राज्य सरकार का बराबर का योगदान
प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री को जबाब देते हुए कहा कि आज के खुबसूरत लखनऊ शहर पर पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल जी का नाम स्वर्णाक्षर में अंकित है। लेकिन यदि भारत के गृहमंत्री माननीय राजनाथ जी के केवल दो वर्ष के विकासकार्यो को ले तो वह 10 हजार करोड़ से अधिक के कार्य अब तक हो चुके है। उन्होंने कहा कि गोमतीनगर से गोरखपुर, गोरखपुर से आनन्द विहार, लखनऊ से नई दिल्ली डबल डेकर रेल तथा हम सफर रेल गाड़िया यात्रियों की व्यापक आवश्यकता को ध्यान में रखकर दिया। 92 किमी की 5273 करोड़ की 8 लेन की वाहय रिंग रोड सड़क प्रदान की। जिसमें लगभग 75 अन्डरपास तथा ब्रिज केन्द्रीय सड़क निधि से 1000 करोड़ लागत के लखनऊ महानगर की सड़कों पर 01 किमी से 4 किमी लम्बे 9 बड़े फ्लाईओवर महागनर में आए दिन आने वाले जाम से निजात दिलाने के लिए स्वीकृति कराया। कुकरैल नाले पर रक्षा मंत्रालय से फ्लाई ओवर निर्माण को अनापतियों प्रदान कराकर स्वीकृत इसके अतिरिक्त जिस मेट्रो रेल परियोजना के निर्माण को लेकर सपा सरकार श्रेय लेते नहीं थकती उस मेट्रो परियोजना में केन्द्र सरकार ने राज्य सरकार के बराबर ही 1300 करोड़ की धनराशि प्रदान की है तथा मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए ऋण की काउन्टर गारन्टी भी केन्द्र सरकार ने ही दी है। उन्होंने कहा कि के0जी0एम0यू0 चिकित्सा विश्वविद्यालय के ट्रामा सेंटर में 140 शायिका का रैनबसेरा 7 करोड़ 60 लाख की लागत से मरीजों के तीमारदारों की सुविधा के लिए बनवाया, गोमतीनगर रेलवे स्टेशन विस्तार के प्रथम चरण के लिए 109 करोड़ की परियाजना के लिए प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि इसके अतरिक्त कई बड़ी विकास परियोजनओं शीघ्र ही साकार होने वाली है।

मौर्य ने कहा कि कानपुर को केन्द्र सरकार ने लगभग 20 हजार करोड़ की परियोजनाएं प्रदान की है। नमामि गंगे योजना के अंतगर्त कई परियोजानाओं 600 करोड़ की लागत से कार्य प्रारम्भ हो चुका है। 638 करेाड़ ऐलिमको को डिकोना के लिए उपकरण बचाने के लिए, युवकों को रोजगार के अवसर के लिए 200 करोड़ टूल रूप को, घाटमपुर तृतीय परियोजना के लिए 15000 करोड़ जिसकी आधारशिला आगामी 13 अक्टूबर को ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल करेंगे। उन्होंने कहा आदरणीय प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में उ0प्र0 में एक लाख करोड़ से अधिक की राष्ट्रीय राजमार्ग की परियोजनाओं पर कार्य प्रारम्भ हो चुके है तथा गांव-बिजली पहुंचाने, 600 बेड का (ईएसआई) स्पेशिलिटी सुपर हास्पिटल, रेल लाइन पर 6 ओवर ब्रिज, कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट को 3800 करोड़ तथा केन्द्र द्वारा प्रोजेक्ट को काउन्टर गारंटी प्रदान की है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अखिलेश जी यह तो केवल दो महानगरों के विकास कार्यो का लेखा-जोखा है। पूरे प्रदेश में मोदी सरकार लाखों करोड़ विकास कार्यो पर खर्च कर रही है मुख्यमंत्री जी हमारे प्रधानमंत्री के विकास के नजरिये को आज देश ही नहीं पूरी दुनिया सराह रही है। उ0प्र0 सरकार विकास में अवरोध पैदा करने के बाजाय और जनहित के सोचे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.