बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने जन्मदिवस के अवसर पर बातचीत के दौरान कहा कि अगर उनकी सरकार बनती है तो सपा सरकार की तरह लैपटॉप और मोबाइल फोन नहीं बल्कि गरीब और जरूरतमंदों को कैश में मदद मिलेगी। उन्होंने अपने लिए रिटर्न गिफ्ट के तौर पर जीत का तोहफा मांगा। साथ ही उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर भी जमकर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि बीजेपी को उत्तर प्रदेश में आने से रोकना बहुत जरूरी है। बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि दोनों की कथनी और करनी में काफी अंतर है। यही कारण है कि ये लोग जो कहते हैं, करते उसके विपरीत हैं।

मायावती ने कहा कि देश भर में ये भी आम चर्चा है कि नोटबंदी का ये फैसला लेने से पहले दस महीने में बीजेपी और पीएम मोदी ने अपनी पार्टी और राष्ट्रीय नेताओं और चंद पूंजीपतियों एवं धन्नासेठों के काले धन को पूरे तौर से ठिकाने लगवा दिया था।

मायावती ने कहा, ‘बीजेपी को यूपी में आने से रोकना सपा, कांग्रेस और आरएलडी जैसे दलों के बस का नहीं है। बीजेपी को उत्तर प्रदेश में आने से केवल बसपा ही रोक सकता है।’ लगभग एक घंटे के संबोधन में मायावती ने बीजेपी और मोदी सरकार को जमकर कोसा।

उन्होंने कहा, ‘बीजेपी अपने फायदे के लिए मुझे और मेरे परिवार को बदनाम करने की कोशिश कर रही है। चुनाव से पहले कारोबार में गलतियां दिख रही हैं। ढाई साल के दौरान मोदी सोए हुए थे।’ जन्मदिन के मौके पर मायावती ने कांग्रेस को ऑक्सीजन पर चलने वाली पार्टी करार दिया और एसपी को गुंडों और बाहुबलियों की पार्टी बताया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.