लखनऊ। नेता जी की पूरी प्लानिंग कामयाब होती नज़र आ रही है। अखिलेश को सर्वे सर्वा बना कर अब वो चैन की सांस ले रहे हैं. पार्टी में टूट फुट की बात को सिरे से ख़ारिज करते हुए नेता जी ने अखिलेश को ही सीएम का चेहरा घोषित कर शिवपाल को चारो खाने चित कर दिया है. समाजवादी पार्टी में पिछले कई दिनों से जारी घमासान के बीच आज पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने बड़ा बयान दिया है. मुलायम ने कहा है कि पार्टी टूटने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता. अखिलेश यादव ही पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे.बता दें कि आज मुलायम सिंह यादव खेमे और अखिलेश यादव खेमे ने चुनाव आयोग पहुंचकर साइकिल निशान और पार्टी पर अपना अपना दावा किया है. ऐसे में मुलायम के इस बयान से पार्टी में चल रहे घमासान के रुकने के आसार दिख रहे हैं.
मतभेद हैं जिसे हम सुलझा लेंगे
इससे पहले भी आज मुलायम सिंह यादव ने चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद कहा कि थोड़ा-बहुत मतभेद है, जिसे वो सुलझा लेंगे. हालांकि मुलायम सिंह यादव ने राज्यसभा अध्यक्ष के नाम एक चिट्ठी भी लिखी है, जिसमें उन्होंने अखिलेश गुट में शामिल रामगोपाल यादव को सदन में पार्टी के नेता पद से हटाने को कहा है.अब जिस पक्ष के पास बहुमत (50 प्रतिशत से एक ज्यादा) होगा, उसे पार्टी का नियंत्रण हासिल करने में आसानी होगी. इस आपको बता दें कि अगर समय रहते चुनाव आयोग फैसला नहीं कर पाता तो साइकिल निशान के इस्तेमाल पर रोक लग सकती है. आयोग को बहुमत पर 17 जनवरी से पहले फैसला लेना होगा क्योंकि उसी दिन चुनाव के पहले चरण की अधिसूचना जारी होगी.पहले चरण के लिए चुनाव 4 फरवरी को होने हैं और अधिसूचना के साथ ही, नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. मुलायम और अखिलेश के गुट एक समय पर एक ही चुनाव चिह्न यानी साइकिल के साथ चुनाव नहीं लड़ सकते हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.