चुनाव मैदान में एक पार्टी का नेता दूसरी पार्टी के नेता पर हमला बोले ये तो आम बात है। इस बार के चुनाव में एक और दिलचस्प लड़ाई देखने को मिल रही है, अखिलेश यादव अपने चाचा शिवपाल यादव पर भी खूब बरस रहे हैं जो उन्हीं की पार्टी से उम्मीदवार भी हैं।

अखिलेश ने बिना नाम लिए शिवपाल को हराने की अपील भी की। अखिलेश के बयान पर शिवपाल यादव की भी प्रतिक्रिया आई है। शिवापल ने कहा, ”अखिलेश के बायन सीधे सीधे कुछ भी ना बोलते हुए कहा कि सब ठीक है, मैं सिर्फ अपने चुनाव पर ध्यान दे रहा हूं।”

अखिलेश ने कहा, ”हमने लोगों पर ज्यादा ही भरोसा कर लिया। जिन पर भरोसा किया उन्होंने हमें और नेता जी को ही लड़ा दिया। मैंने कभी साइकिल को हराने की बात नहीं की लेकिन सुना है इटावा में कहीं कहीं मोबाइल से लोगों को बुलाकर साइकिल हराने की बात कही जा रही है। हमने सुना है कि यहां पर एक नई पार्टी भी बनने जा रही है। ये आरोप तो हम पर लगता था कि हम नई पार्टी बनाने जा रहे हैं। कौन समझाए कि नई पार्टी बनाने से कुछ नहीं होता।” अखिलेश ने कहा, ”ऐसे लोग जिन्होंने नेता जी और हमारे बीच खाई पैदा की है इटावा को लोगों उन्हें सबक सिखाने का काम करना।”

शिवपाल को नरेश अग्रवाल ने बताया ‘कूड़ा’
शिवपाल पर अखिलेश के इस वार के बाद पार्टी के दूसरे नेता भी कूद पड़े। परिवार के झगड़े में अखिलेश के साथ खड़े रहे सांसद नरेश अग्रवाल ने तो बिना नाम लिए शिवपाल की तुलना कूड़े से कर दी और कह दिया कि कूड़े की जगह डस्टबीन में होती है। नरेश अग्रवाल ने कहा, ”पतझड़ हरसाल आता है, पुराने पत्ते झड़ जाते हैं और नए पत्ते आ जाते हैं। पतझड़ के झड़े पत्तों पर ज्यादा बात नहीं की जाती उन्हें झाड़ू से साफ करके कूड़ेदान में डाल दिया जाता है।”

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.